पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59721.31-0.63 %
  • NIFTY17849.35-0.5 %
  • GOLD(MCX 10 GM)480700.26 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633193.1 %

आजमगढ़...जिला न्यायालय में मनाया गया भारतीय संविधान दिवस:न्यायाधीश ने दिलाई कर्मचारियों, अधिकारियों को शपथ, देश का आईना होती है उद्देशिका

आजमगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ जिले में संविधान दिवस के अवसर पर संविधान दिवस की शपथ दिलाते जिला जज दिनेश चन्द्र व डीएम राजेश कुमार। - Money Bhaskar
आजमगढ़ जिले में संविधान दिवस के अवसर पर संविधान दिवस की शपथ दिलाते जिला जज दिनेश चन्द्र व डीएम राजेश कुमार।

आजमगढ़ जिले में संविधान की 72वीं वर्षगाठ के उपलक्ष्य में जिला जज दिनेश चंद की अध्यक्षता में भारतीय संविधान दिवस मनाया गया। जिला जज दिनेश चंद ने समस्त न्यायिक अधिकारियों व कर्मचारियों को भारतीय संविधान में निष्ठा रखने एवं संविधान का अनुपालन सुनिश्चित करने हेतु संविधान की उद्देशिका का शपथ दिलाया गया तथा मौलिक कर्तव्यों के बारे में बताया गया। विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के संविधान को आज ही के दिन अंगीकार किया गया था। भारतीय संविधान की सफलता का मूल आधार संविधान सभा में भारतीय समाज के हर छोटे बड़े वर्गों को प्रतिनिधित्व देने की कोशिश करना है।

देश का आईना होती है उद्देशिका
भारतीय संविधान देश के प्रत्येक नागरिक को मौलिक अधिकार प्रदान करता है साथ ही उनके मूल कर्तव्यों की व्याख्या करता है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव अनीता का कहना है कि किसी भी देश की उद्देशिका उसका आईना होती है। भारतीय संविधान भारत के लोगों के लिए अपने आप में विशेष अधिकार समाहित किए हुए है और देश की एकता, अखंडता को अक्षुण्य बनाने में पूरी तरह से सुदृढ़ है। डा. अम्बेडकर ने 25 नवम्बर, 1949 को संविधान सभा के अंतिम भाषण में कहा था कि संविधान चाहे जितना अच्छा हो यदि उसे संचालित करने वाले लोग बुरे है तो वह निश्चित बुरा हो जाता है और यदि उसे संचालित करने वाले लोग अच्छे है तो वह संविधान निश्चित अच्छा होता है।