पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आजमगढ़ DM बोले- तालाबों को किया जाएगा विकसित:रानी लक्ष्मीबाई के नाम से जाना जाएगा सरोवर, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी को बनाया मुख्य अतिथि

आजमगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ जिले में अमृत महोत्सव के अन्तर्गत बनने वाले तालाबों का भूमि पूजन करते जिले के डीएम विशाल भारद्वाज। - Money Bhaskar
आजमगढ़ जिले में अमृत महोत्सव के अन्तर्गत बनने वाले तालाबों का भूमि पूजन करते जिले के डीएम विशाल भारद्वाज।

आजमगढ़ के डीएम विशाल भारद्वाज ने कहा कि अमृत योजना के तहत जिले के तालाबों को विकसित किया जाएगा। जिले के विकास खंड ठेकमा में तालाब की भूमि का पूजन करने पहुंचे जिले के डीएम ने कहा कि तालाबों के संरक्षण की जिम्मेदारी हम सभी की है। कार्यक्रम में जिले के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी लाल चंद तिवारी को मुख्य अतिथि बनाया गया। जिले के डीएम ने स्वयं पूजाकर लोगों को इन तालाबों को संरक्षित करने का संदेश दिया।

17.979 लाख से होगा निर्माण
जिले के डीएम अमृत त्रिपाठी ने बताया कि इस तालाब का निर्माण अमृत सरोवर मनरेगा योजना अंतर्गत बनाया जा रहा है, जिसकी वित्तीय लागत 17.979 लाख है तथा सरोवर का क्षेत्रफल 4900 वर्ग मीटर है। यह सरोवर ग्राम पंचायत द्वारा बनाया जा रहा है। डीएम ने कहा कि आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है।

इसी क्रम में प्रदेश के प्रत्येक जनपद में 75 तालाबों को चिन्हित कर अमृत सरोवर के रूप में विकसित किया जा रहा है। डीएम ने कहा कि यह हर्ष की बात है कि इस सरोवर का नाम प्रथम महिला स्वतंत्रता संग्राम सेनानी महारानी लक्ष्मीबाई के नाम पर रखा गया है। इस भीषण गर्मी में हमें पानी के महत्व के बारे में पता चल रहा है। सरकार की यह योजना मुख्य रूप से जल संरक्षण हेतु चलाई जा रही है।

आगामी वर्षा ऋतु से पहले संभवत सभी तालाबों को विकसित कर लिया जायेगा, जिससे जल संरक्षण की योजना को पूरा किया जा सकेगा। जल संरक्षण से केवल मनुष्य ही नहीं बल्कि जीव जंतुओं को भी जल का लाभ मिलेगा। डीएम ने सभी से अपेक्षा किया कि आप सभी के सहयोग से जल संरक्षण की यह योजना पूर्ण रूप से सफल होगा, इसलिए सभी लोग आगे आएं।