पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आजमगढ़...'फरेबी' पत्नी प्रेमी संग पकड़ी गई:अपहरण व दहेज प्रताड़ना के आरोप में 13 महीने जेल में रहा पति, 3 लाख की ज्वेलरी लेकर भागी थी

आजमगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रेमी के साथ फरार पत्नी को पुलिस ने इटावा से पकड़ा है। यह रुचि और दीपू की शादी की फाइल फोटो है।

आजमगढ़ में जिस पत्नी के अपहरण व दहेज प्रताड़ना के आरोप में पति 13 महीने जेल में रहा, वह अपने प्रेमी के साथ रह रही थी। पुलिस ने पत्नी को 9 नवंबर की शाम इटावा में उसके प्रेमी के साथ पकड़ा है। पति का आरोप है कि वह 2 साल पहले करीब 3 लाख की ज्वेलरी लेकर भाग गई थी।

जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के मसोना गांव में दीपू गोंड़ पुत्र राजेंद्र गोंड रहता है। 11 जून, 2019 को उसकी शादी मऊ के छोटी डाड़ी गांव निवासी मगरू गोंड की बेटी रुचि गोंड से हुई थी। दीपू ने बताया कि कुछ दिन तो सब कुछ ठीक रहा। लेकिन इसके बाद रुचि फोन पर किसी से बात करने लगी। इसको लेकर अक्सर दोनों के बीच झगड़ा होने लगा। धीरे-धीरे बात इतनी बढ़ी कि रुचि पति को छोड़कर अपने मामा के यहां चली गई।

कोतवाली में हुई पंचायत के बाद लौटी पति के पास
बाद में इसको लेकर जीयनपुर कोतवाली में दोनों परिवारों के बीच पंचायत हुई। समझौता होने के बाद वह फिर पति के साथ ससुराल आ गई। दीपू का आरोप है कि एक सप्ताह भी नहीं बीता था कि रुचि 20 सितंबर, 2019 को ससुराल से करीब तीन लाख की ज्वेलरी लेकर भाग गई। इस बारे में उसने कोतवाली में इसका लिखित प्रार्थना पत्र भी दिया।

लड़की की मां ने दर्ज कराया था मुकदमा
उधर, रुचि के गायब होते ही उसकी मां माया देवी ने जीयनपुर कोतवाली में प्रार्थना पत्र दिया। आरोप लगाया कि रुचि को उसके पति दीपू, ससुर राजेंद्र गोंड और जेठानी विनीता दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे। 27 सितम्बर 2019 को 498 ए, 364 व दहेज प्रतिशेध अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया।

पुलिस ने सितंबर, 2019 में मुकदमा दर्ज कर पति को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद उसको कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया। 13 महीने तक वह जेल में रहा। इसके बाद साल 2020 में उसकी हाईकोर्ट से जमानत हुई। दीपू ने बताया कि जमानत और मुकदमा लड़ने के लिए पिता ने अपनी जमीन बेच दी। मैं सब्जी बेचता था और ठेले पर गन्ने का जूस बेचकर रोजी-रोटी चलाता था।

इंस्पेक्टर ने बातों पर किया विश्वास
गिरफ्तारी के दौरान दीपू बार-बार गुनहगार नहीं होने की बात कहता रहा। लेकिन उसकी नहीं सुनी गई। जमानत पर छूटने के बाद भी उसने कोतवाली पुलिस से पत्नी का पता लगाने की बात कही। इसके बाद पुलिस ने कोशिश की। तब पता चला कि रुचि इटावा के इटैली में अपने प्रेमी के साथ रह रही है। SSI चंद्रशेखर यादव वहां पहुंचे और दोनों को हिरासत में ले लिया। दीपू गोंड ने सास माया देवी, रुचि के मामा निरंजन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

खबरें और भी हैं...