पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आजमगढ़ में टिकट को लेकर घमासान:स्थानीय लोगों को नहीं मिली तरजीह, कांग्रेस पदाधिकारियों ने लगाया आरोप

आजमगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टिकट वितरण को लेकर हो रहे घमासान के बारे में कांग्रेस प्रवक्ता ओंकार पांडेय का कहना है कि पार्टी के अंदर आंतरिक लोकतंत्र मजबूत है। - Money Bhaskar
टिकट वितरण को लेकर हो रहे घमासान के बारे में कांग्रेस प्रवक्ता ओंकार पांडेय का कहना है कि पार्टी के अंदर आंतरिक लोकतंत्र मजबूत है।

आजमगढ़ जिले में कांग्रेस के टिकट वितरण के बाद घमासान शुरू हो गया है। कांग्रेस ने चार विधानसभा क्षेत्र में प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिए हैं। अब ऐसे में जिले की निजामाबाद विधानसभा से विरोध के स्वर उठने लगे हैं। निजामाबाद के दावेदारों का कहना है कि कांग्रेस ने बाहरी लोगों को प्रत्याशी बनाया है। विधानसभा में बड़ी संख्या में लोग वर्षों से पार्टी का झंडा बुलंद कर रहे हैं। ऐसे आवेदकों को दरकिनार किया गया जो ठीक नही है। हम लोग इस लड़ाई को आगे तक ले जाएंगे।

स्थानीय को नहीं मिली तरजीह

टिकट वितरण को लेकर कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष राम गणेश प्रजापति का कहना है कि पार्टी में जो लोग वर्षों से सेवा कर रहे हैं, उन्हें टिकट नहीं दिया गया। इसको लेकर हम लोग विरोध कर रहे हैं। स्थानीय दावेदारों को तरजीह नहीं दी गई। इस लड़ाई को हम लोग आगे तक ले जाएंगे। उपाध्यक्ष का कहना है कि हम लोग चाहते हैं कि जो यहां के दावेदार हैं उन्हें टिकट दिया जाना चाहिए। कांग्रेस ने यहां जिन अनिल यादव को प्रत्याशी बनाया है वह रिहाई मंच से आए हैं और चार महीने पहले इस क्षेत्र में आए हैं।

कांग्रेस बोली पार्टी में मजबूत है आंतरिक लोकतंत्र

टिकट वितरण को लेकर हो रहे घमासान के बारे में कांग्रेस प्रवक्ता ओंकार पांडेय का कहना है कि पार्टी के अंदर आंतरिक लोकतंत्र मजबूत है। सभी लोगों को अपनी बात कहने का हक है। यह उन विरोधियों के मुंह पर करारा तमाचा है जो कहते थे कि कांग्रेस का टिकट लेने वाला कोई नहीं है। आज हमारे पार हर विधानसभा में 15 से अधिक दावेदार हैं। ऐसे में समझा जा सकता है कि पार्टी बहुत मजबूत हुई है।

ये प्रत्याशी हैं कतार में

कांग्रेस ने निजामाबाद से सदर विधानसभा क्षेत्र में रहने वाले अनिल यादव को अपना प्रत्याशी बनाया है। अनिल यादव रिहाई मंच से कांग्रेस में आए हैं। निजामाबाद से प्रदेश उपाध्यक्ष राम गणेश प्रजापति, पूर्णमासी प्रजापति, मदनलाल, डॉ.. राजेश्वरी पांडेय, दामोदर सिंह व फैय्याज कुरैशी दावेदार हैं। ऐसे में पार्टी ने इन स्थानीय दावेदारों को दरकिनार किया है, जो ठीक नहीं।

खबरें और भी हैं...