पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Azamgarh
  • Akhilesh Yadav Will Reach Azamgarh Today In Wedding Of District President Havaldar Yadav Niece Reach His Parliamentary Constituency For The Second Time In 9 Days

आजमगढ़...अखिलेश यादव का दौरा आज:जिलाध्यक्ष हवलदार यादव की भतीजी की शादी में होंगे शामिल; 9 दिन में दूसरी बार पहुंचेंगे अपने संसदीय क्षेत्र

आजमगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
26 नवंबर को सुबह 10.35 बजे अखिलेश यादव का हेलिकाप्टर महाराजगंज के हौसेपुर में हेलीपैड पर उतरेगा। - Money Bhaskar
26 नवंबर को सुबह 10.35 बजे अखिलेश यादव का हेलिकाप्टर महाराजगंज के हौसेपुर में हेलीपैड पर उतरेगा।

सिर्फ नौ दिनों के अंतराल पर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आजमगढ़ आ रहे हैं। अखिलेश आजमगढ़ संसदीय सीट से सांसद हैं। लेकिन उनका यह दौरा सियासी नहीं है। वह सपा के जिलाध्यक्ष हवलदार यादव की भतीजी के विवाह में शामिल होने के लिए आजमगढ़ में होंगे।

26 नवंबर को सुबह 10.35 बजे अखिलेश यादव का हेलीकाप्टर महाराजगंज के हौसेपुर में हेलीपैड पर उतरेगा। यहां से वह सीधे जिला अध्यक्ष के साथ उनके आयोजन में शामिल होने जाएंगे। आजमगढ़ में पार्टी के नेताओं ने एक दिन पहले ही तैयारियों का जायजा लिया। वर-वधु को आशीर्वाद देने के बाद अखिलेश लखनऊ लौट जाएंगे।

​​​​​​17 नवम्बर को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से आए थे आजमगढ़
इससे पहले सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव 17 नवम्बर को गाजीपुर से लखनऊ तक का सफर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से किया था। 16 नवम्बर को पीएम नरेन्द्र मोदी के पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के शुभारंभ के अगले दिन ही अखिलेश यादव ने इस पर सफर किया था। 17 नवम्बर को अखिलेश यादव को आजमगढ़ दोपहर दो बजे आना था। लेकिन रात 8 बजे पहुंचे अखिलेश यादव के स्वागत के लिए पदाधिकारी इंतजार करते रहे। यात्रा के बहाने जिले की सभी विधानसभा क्षेत्रों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से मुलाकात की थी।

सपा का गढ़ है आजमगढ़
आजमगढ़ को सपा का गढ़ माना जाता है। जब पूरे प्रदेश में भाजपा की लहर चली। उस समय भी इस जिले के लोगों ने भाजपा के विजय रथ को रोकने का काम किया था। 2017 के विधानसभा चुनाव में यहां सपा को 5 सीटें मिली थी। जबकि बसपा को चार, भाजपा को एक मात्र फूलपुर की सीट पर संतोष करना पड़ा था। ऐसे में सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव अपने संसदीय क्षेत्र में पदाधिकारियों के यहां होने वाले कार्यक्रमों में शामिल होने आते रहते हैं।