पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Ayodhya
  • Two Thousand Ayurveda Doctors, 50 Eminent Experts Of The Country Will Be Involved In The Kumbh To Be Held From November 27. Ayodhya, Ayurveda Kambha.Mahant Gyan Das . Mahant Sanjay Das

अयोध्या में होगा देश का पहला आयुर्वेद कुंभ:2000 आयुर्वेद डॉक्टर शामिल होंगे; गंभीर बीमारियों का होगा इलाज

अयोध्या2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी के इतिहास में पहली बार अयोध्या में आयुर्वेदिक कुंभ का आयोजन किया जाएगा। 27 और 28 नवंबर को होने वाले इस कुंभ में 2000 आयुर्वेद डॉक्टर शामिल होंगे। जबकि 50 विशेषज्ञ अपनी विधा से लोगों में गंभीर बीमारियों का इलाज करेंगे।

दीनबंधु नेत्र चिकित्सालय में एक छत के नीचे देश के बड़े आयुर्वेद डॉक्टर इकट्ठे होंगे। इसमें सुश्रुत संहिता का एक साथ 2000 आयुर्वेद डॉक्टर पाठ करके रिकॉर्ड बनाएंगे। आचार्य को आधुनिक चिकित्सा विज्ञान में फादर ऑफ सर्जरी कहा जाता है।

हनुमानगढ़ी के महंत संजय दास ने बताया कि 28 नवंबर को फ्री आयुर्वेद चिकित्सा शिविर लगाया जाएगा। जिसके फर्स्ट सेशन में देश के 50 आयुर्वेद विशेषज्ञ अपनी सेवाएं देंगे।
हनुमानगढ़ी के महंत संजय दास ने बताया कि 28 नवंबर को फ्री आयुर्वेद चिकित्सा शिविर लगाया जाएगा। जिसके फर्स्ट सेशन में देश के 50 आयुर्वेद विशेषज्ञ अपनी सेवाएं देंगे।

28 नवंबर को लगेगा आयुर्वेद चिकित्सा शिविर

कार्यक्रम के संरक्षक और हनुमानगढ़ी के महंत संजय दास ने बताया कि 28 नवंबर को फ्री आयुर्वेद चिकित्सा शिविर लगाया जाएगा। जिसके फर्स्ट सेशन में देश के 50 आयुर्वेद विशेषज्ञ अपनी सेवाएं देंगे। इसके बाद महर्षि सुश्रुत की रथ यात्रा निकाली जाएगी। साथ ही भगवान श्री धन्वंतरि की सरयू तट पर भव्य महाआरती होगी। इसके अलावा अन्य कार्यक्रम भी होंगे। जिनके बारे में वेबसाइट www.ayurvedakumbh.com पर देखा जा सकता है।

महंत ज्ञानदास के आशीर्वाद से हो रहा आयोजन

कार्यक्रम के अध्यक्ष वैद्य अभय नारायण मिश्र (निदेशक जीवन अमृत) ने बताया कि अयोध्या में राम है। तो राम का ज्ञान कराने वाला ग्रंथ रामचरित मानस भी है। यह परंपरा है हमारे गुरु और ग्रंथ की। यही गुरु-शिष्य परंपरा आयुर्वेद शास्त्र में चली आ रही है।

उन्होंने कहा कि अयोध्या में पहली बार ऐसा आयोजन होने जा रहा है। अब वह दिन दूर नहीं, जब पूरे यूपी के लोग आसान तरीके से आयुर्वेद से इलाज करा सकेंगे।

खबरें और भी हैं...