पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %

नहीं बढ़ेगी रामलला की दर्शन अवधि:सुरक्षा कारणों से ट्रस्ट नहीं बढ़ाएगा दर्शन का समय, स्थाई सुरक्षा समिति की बैठक में हुई थी चर्चा

अयोध्या2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अयोध्या में बनने वाले राममंदिर का माडल जिसके आधार पर मंदिर का निर्माण किया जा रहा है - Money Bhaskar
अयोध्या में बनने वाले राममंदिर का माडल जिसके आधार पर मंदिर का निर्माण किया जा रहा है

आतंकी खतरे को देखते हुए श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने रामलला के दर्शन अवधि को बढ़ाने की बात को खारिज कर दिया है।ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने सुरक्षा कारणों से दर्शन के समय को बढ़ाना संभव नहीं होने की बात कही है।

अयोध्या में विराजमान रामलला जिनका भव्य मंदिर निर्माण शुरु होने के बाद भक्तों की भीड़ बढ़ रही है जिसको देखते हुए दर्शन की अवधि आठ घंटे से ज्यादा बढ़ाने की मांग हो रही है
अयोध्या में विराजमान रामलला जिनका भव्य मंदिर निर्माण शुरु होने के बाद भक्तों की भीड़ बढ़ रही है जिसको देखते हुए दर्शन की अवधि आठ घंटे से ज्यादा बढ़ाने की मांग हो रही है

हनुमानगढ़ी,कनक भवन जैसी स्थितियां राम जन्म भूमि दर्शन के लिए संभव नहीं

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय के अनुसार रामलला की दर्शन अवधि बढ़नी चाहिए और यह समय की मांग भी है पर सुरक्षा कारणों से यह संभव नहीं हो पा रहा है। सुरक्षा सहित सभी कठिनाइयों को समझने की जरूरत है। उन्होंने कहा है कि हनुमानगढ़ी,कनक भवन जैसी स्थितियां राम जन्म भूमि दर्शन के लिए संभव नहीं हैं।

आतंकी घटना हवाला देते हुए ट्रस्ट दर्शन अवधि बढ़ाने की बात पर सहमत नहीं

उन्होंने कहा कि रामलला की सुरक्षा, जनता की सुरक्षा और स्थानीयों का जीवन है ट्रस्ट के लिए सर्वोपरि है। सुरक्षा कारणों से दिन में ही रामलला का दर्शन हो सकता है।अयोध्या में पुरानी आतंकी घटना और साजिशों का हवाला देते हुए ट्रस्ट दर्शन अवधि बढ़ाने की बात पर सहमत नहीं है। चंपत राय ने इस संबंध में बात करते हुए रामलला के अस्थाई मंदिर पर पांच जुलाई 2005 के आतंकी हमले को याद कियाl

रामभक्तों को उनके आराध्य के दर्शन मात्र आठ घंटे तक ही हो पा रहे हैं

बताते चले कि राममंदिर का निर्माण जनवरी 2021 से आरंभ होने के बाद रामलला के श्रद्धालुओं की संख्या लगातार बढ़ती जा रही हैl अभी रामभक्तों को उनके आराध्य के दर्शन मात्र आठ घंटे तक ही हो पा रहे हैंl सुबह सात बजे से 11 बजे तक व दोपहर दो बजे से शाम छळ बजे ही दो पालयों में रामलला का दर्शन किया जा सकता हैl 22 नवम्बर को हुई श्रीरामजन्मभूमि की सुरक्षा संबंधी स्थाई समिति की बैठक में रामलला के श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए दर्शन की अवधि बढ़ाने पर चर्चा हुई थीl

मंदिर को नमी से बचाने के लिए ग्रेनाइट के पत्थरो का प्रयोग होगा
अयोध्या राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चम्पत राय ने राममंदिर निर्माण में राफ्ट निर्माण की अवधि बढ़कर अब इसे 15 जनवरी तक पूरा होने की बात कहीl उन्होंने कहा कि पहले 15 दिसम्बर तक इसे होना था lराफ्ट निर्माण में 20 डिग्री तापमान की जरूरत हैl राफ्ट निर्माण में कॉन्क्रीट के मिश्रण में पानी की जगह बर्फ के चूरे का प्रयोग किया जा रहा हैl राफ्ट निर्माण के बाद 20 फिट ऊची प्लिंथ अर्थात रामचबूतरा क निर्माण होगाl प्लिंथ निर्माण से पहले राफ्ट के ऊपर ग्रेनाइट की लेयर बिछाई जाएगीl राम मंदिर को नमी से बचाने के लिए ग्रेनाइट के पत्थरो का प्रयोग होगाl अब राफ्ट निर्माण में 17 की जगह 32 ब्लाक में 1 लाख 85 हजार क्यूबिक घनमीटर क्षेत्र के ऊपर राफ्ट का निर्माण हो रहा है।

खबरें और भी हैं...