पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अयोध्या में बच्चों के हाथ में किताब की जगह झाड़ू:शिक्षामित्र बच्चों से विद्यालय परिसर में लगवाता है झाडू,बोला जिसे आपत्ति हो वह स्वयं आकर करे सफाई

अयोध्या9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अयोध्या के मिल्कीपुर शिक्षा क्षेत्र में परिषदीय विद्यालय के बच्चों के हाथों से किताब की जगह झाड़ू देख चौंक गए गांव के लोग - Money Bhaskar
अयोध्या के मिल्कीपुर शिक्षा क्षेत्र में परिषदीय विद्यालय के बच्चों के हाथों से किताब की जगह झाड़ू देख चौंक गए गांव के लोग

अयोध्या के प्राइमरी स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था पर शिक्षकों की मनमानी व अधिकारियों की लापरवाही से नहीं उबर पा रही हैl विधानसभा मिल्कीपुर क्षेत्र के एक स्कूल मे ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें बच्चों से स्कूल में झाड़ू लगवाई जा रही है।

शिक्षा क्षेत्र मिल्कीपुर के तहत नरेन्द्रा भादा गांव में प्राथमिक विद्यालय में झाड़ू लगा रहे बच्चे
शिक्षा क्षेत्र मिल्कीपुर के तहत नरेन्द्रा भादा गांव में प्राथमिक विद्यालय में झाड़ू लगा रहे बच्चे

मिल्कीपुर के तहत नरेन्द्रा भादा गांव में प्राथमिक विद्यालय का है प्रकरण
शिक्षा क्षेत्र मिल्कीपुर के तहत नरेन्द्रा भादा गांव में प्राथमिक विद्यालय का है जहां नौनिहालों से शनिवार को सुबह विद्यालय में बच्चे हाथों में किताब की जगह झाड़ू नजर आया। जब झाड़ू लगाने से नराज लोगों ने इसका वीडियो बनाने की कोशिश कर अपनी नाराजगी जताई तो विद्यालय में मौजूद शिक्षामित्र राजकुमार ने वीडियो बनाने के लिए मना करते हुए डिलीट करने का दबाव बना मारपीट पर उतारू हो गया।

शिक्षामित्र ने गलती मानने की जगह अधिकारियों को दे डली नसीहत
शिक्षामित्र ने गलती मानने की जगह अधिकारियों को दे डली नसीहत

शिक्षामित्र बोला कि मैं तो प्रतिदिन बच्चों से ही झाड़ू लगवाता हूं

शिक्षामित्र बोला कि मैं तो प्रतिदिन बच्चों से ही झाड़ू लगवाता हूं जो अधिकारी इसके लिए आपत्ति करें वह स्वयं आकर झाड़ू लगाएं। इस बारे में खंड शिक्षा अधिकारी मिल्कीपुर सियाराम वर्मा ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। अभी हम कमिश्नर साहब की मीटिंग में हैं। ब्लॉक पर पहुंचने के बाद दोषी लोगों के खिलाफ जांच कर कार्यवाही की जाएगी।

शिकायत पर अधिकारी लीपापोती करने में माहिर है

परिषदीय विद्यालयों की स्थिति सुधारने के लिए प्रदेश सरकार छात्रों को ड्रेस, बैग और पुस्तक नि:शुल्क दे रही है। किन्तु शिक्षक छात्रों को पुस्तक की जगह सफाई कराने को झाडू़ थमा देते हैं। शिकायत पर अधिकारी लीपापोती करने में माहिर है। इसी कारण परिषदीय स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार नहीं हो पा रहा है।

स्कूल में बच्चों से शौचालय साफ करवाने का मामला भी सामने आ चुका है

परिषदीय स्कूलों में लाख कोशिशों के बावजूद व्यवस्थाएं सुधरने का नाम नहीं ले रही हैं। शासन की ओर से इन स्कूलों में व्यवस्थाएं सुधारने के नाम पर पानी की तरह पैसा भी बहाया जा रहा है लेकिन स्थिति जस की तस बनी हुई है।साल भर पहले इसी क्षेत्र के स्कूल में बच्चों से शौचालय साफ करवाया जाता है तो कभी झाड़ू लगवाई जाती है। कभी शिक्षिकाएं मोबाइल में व्यस्त रहती हैं।

खबरें और भी हैं...