पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राजनीति से दूर रहे सीएम योगी आदित्यनाथ:3915 नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद दिया, बोले; अब बेटियां पुलिस - शिक्षक बन समाज को नई दिशा दे रहीं

अयोध्या9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अयोध्या के राजकीय इंटर कॉलेज में सामूहिक विवाह समारोह के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 11 जोड़ों को मंच पर बुलाकर उन्हें आशीर्वाद दिया - Money Bhaskar
अयोध्या के राजकीय इंटर कॉलेज में सामूहिक विवाह समारोह के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 11 जोड़ों को मंच पर बुलाकर उन्हें आशीर्वाद दिया

अयोध्या का राजकीय इंटर कॉलेज का मैदान शुक्रवार को ऐतिहासिक सामूहिक विवाह का गवाह बना। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ खुद 3915 जोड़ों को आशीर्वाद दिया।खास बात ये भी है कि इनमें 138 मुस्लिम जोड़ों के भी निकाह पढ़े गए।कार्यक्रम में सीएम सवा घंटे देर से पहुंचे और आधा घंटे के बाद अयोध्या से बलरामपुर के लिए रवाना हो गएl उन्होंने व्यस्तता के चलते इस बार न तो रामलला का दर्शन किया न ही अयोध्या के डेवलपमेंट प्लान को लेकर अधिकारियों के चर्चा कर सके।

सीएम ने नव विवाहित जोड़ों को आशीर्वाद के साथ उपहार भी दिए
सीएम ने नव विवाहित जोड़ों को आशीर्वाद के साथ उपहार भी दिए

राजनीतिक भाषण से दूर रहे सीएम योगी

इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने सम्बोधन में राजनीतिक भाषण से दूर रहे।कहा कि आज संविधान दिवस है।इस मौके पर श्रमिको को सम्मान देने के लिए संविधान दिया है।सरकार खुद खड़ी होकर कन्यादान कर रही है।इससे अच्छा पुण्य कार्य और क्या हो सकता है।समाज के अंतिम पायदान पर बैठे श्रमिको को लाभ मिल रहा है। हम हर श्रमिक कन्या का पोषण कर रहे हैं।कोरोना के दौरान 54 लाख श्रमिकों को भरण-पोषण भत्ता दिया गया। 2 लाख रुपए सामाजिक सुरक्षा,5 लाख रुपये स्वास्थ्य सुरक्षा दी जा रही है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2017 के बाद सरकार के गठन के बाद प्रदेश भ्रष्टाचार मुक्त,भयमुक्त हुआ है
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2017 के बाद सरकार के गठन के बाद प्रदेश भ्रष्टाचार मुक्त,भयमुक्त हुआ है

इन श्रमिकों के पसीने से राष्ट्र की आधारशिला रखी गई है

सीएम ने कहा कि इन श्रमिकों के पसीने से राष्ट्र की आधारशिला रखी गई है। इनकी कन्याओं की शादी हो रही है।सब की बेटी अपनी बेटी मानकर सभी लोग सहयोग करें।आज अयोध्या मंडल में 3915 जोड़ों का विवाह हुआ है।पहले बाल विवाह दहेज प्रथा एक कुप्रथा थी, दोनों को तिलांजलि दी जा रही है। 2017 के पहले प्रदेश में भ्रष्टाचार था अराजकता थी लेकिन 2017 के बाद सरकार के गठन के बाद भ्रष्टाचार मुक्त भयमुक्त प्रदेश हुआ है। गरीबों को शौचालय ,आवास दिया। 2 करोड़ 60 लाख लोगों को सरकार ने शौचालय बनवा कर दिया।जहां बिजली आपूर्ति नहीं हो रही थी वहां बिजली की आपूर्ति हो रही है।मिशन शक्ति के तहत बेटियां पुलिस व शिक्षक बन रही है और समाज को एक नई दिशा दे रही हैं।

वैवाहिक आयोजन को जनसभा की तरह सजाया गया

जीआईसी के मैदान में 30 से 35 हज़ार लोगों की मौजूदगी रही। सामूहिक विवाह आयोजन को जनसभा में तब्दील किया गया। प्रोटोकॉल के मुताबिक करीब 3 बजे सीएम योगी पहुंचना था। 45 मिनट में उन्हें वर-वधू को आशीर्वाद देने थे। उन्होंने जनसभा को संबोधित तो किया पर अधिकारियों के साथ प्रोजेक्ट की चर्चा नहीं कर सके।

श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, प्रभारी मंत्री नीलकंठ तिवारी रहेंगे मौजूद

उप श्रम आयुक्त अयोध्या अनुराग मिश्र के मुताबिक सुल्तानपुर, अमेठी, बाराबंकी, अंबेडकर नगर और अयोध्या के 3915 लाभार्थी आयोजन में शामिल रहे। इस तरह आयोजन में 40 हजार लोग शामिल हुए। कार्यक्रम में श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, प्रभारी मंत्री नीलकंठ तिवारी, राज्यमंत्री मन्नू लाल कोरी व स्थानीय जनप्रतिनिधि भी मौजूद रहे।

डीएम-एसएसपी ने तैयारियों का जायजाद लेते रहे

डीएम नितीश कुमार और एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय आयोजन को देखने के लिए पहुंचे। कार्यक्रम स्थल पर सीएम के आगमन के लिए बनाए जा रहे मंच को खास तरीके से सजाया गया था। वाहनों के पार्किंग स्थल, भोजन- पानी की व्यवस्था, मेडिकल कैंप, टेंट व वेदिका के निर्माण आदि की तैयारियों का जायजा भी अधिकारियों ने पूरी समय लिया।

खबरें और भी हैं...