पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री अरविंद कुमार शर्मा ने कहा:आजादी के बाद पहली बार भारत में हो रहा 44वां शतरंज ओलंपियाड प्रतियोगिता

अयोध्या3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अखिल भारतीय शतरंज महासंघ प्रथम शतरंज ओलंपियाड टॉर्च रिले का अयोध्या पहुंचने पर अवधविश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में खिलाड़ियों को सम्मानित करतेऊर्जा मंत्री अरविंद कुमार शर्मा

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार शतरंज की शुरूआत भारत से हुई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक फिर इसकी जड़ें लाकर दोबारा देश में स्थापित कर रहें है। जो ऐतिहासिक कार्य है। यह बात मंगलवार को उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री एवं ऊर्जा मंत्री अरविंद कुमार शर्मा ने अयोध्या में कहीं। ऊर्जा मंत्री मंगलवार सुबह डॉ राम मनोहर लोहिया विश्वविद्यालय के विवेकानंद सभागार में आयोजित अखिल भारतीय शतरंज महासंघ प्रथम शतरंज ओलंपियाड रिले कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे।

आजादी के बाद पहली बार देश में हो रहा शतरंज ओलंपियाड

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार देश में शतरंज ओलंपियाड का आयोजन किया जा रहा है। इससे पहले 1927 में ओलंपियाड देश में आयोजित किया गया था। आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर कई चीजें शुरू हो रही है। जिसमें शतरंज का ओलंपियाड भी शामिल है। लगभग 100 वर्षों के अंतराल पर यह ओलंपियाड को भारत आने का अवसर मिला है।

अखिल भारतीय शतरंज महासंघ प्रथम शतरंज ओलंपियाड टॉर्च रिले का स्वातग करते ऊजा मंत्री अरविंद कुमार शर्मा और सांसद लल्लू सिंह
अखिल भारतीय शतरंज महासंघ प्रथम शतरंज ओलंपियाड टॉर्च रिले का स्वातग करते ऊजा मंत्री अरविंद कुमार शर्मा और सांसद लल्लू सिंह

उत्तर प्रदेश के 9 जिले में जाएंगी टॉर्च रिले

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि अमृत महोत्सव के अवसर पर अखिल भारतीय शतरंज महासंघ प्रथम शतरंज ओलंपियाड टॉर्च रिले पूरे देश के 75 जिलों में जाएगी, जिसमें नौ शहर उत्तर प्रदेश है। जहां रिले के स्वागत में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 जून 22 को इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम नई दिल्ली में महान ग्रैंडमास्टर और पांच बार के विश्व चैंपियन विश्वनाथन आनंद को मशाल सौंपकर ओलंपियाड के पहले मशाल रिले का उद्घाटन किया था।

टॉर्च रिले के खिलाड़ियों का किया गया स्वागत

अखिल भारतीय शतरंज महासंघ प्रथम शतरंज ओलंपियाड टॉर्च रिले सोमवार शाम को अयोध्या पहुंची, टॉर्च रिले में शामिल खिलाड़ियों ने सर्किट हाउस रात्रि विश्राम किया। मंगलवार सुबह सांसद लल्लू सिंह, महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, जिलाधिकारी नितिश कुमार, एसएसपी शैलेश पांडेय सर्किट हाउस पहुंचकर खिलाड़ियों का स्वागत किया। जहां से प्रथम शतरंज ओलंपियाड टॉर्च रिले डॉ राम मनोहर लोहिया विश्वविद्यालय के विवेकानंद सभागार पहुंची। जहां नगर विकास मंत्री एवं ऊर्जा मंत्री अरविंद कुमार शर्मा और जनप्रतिनिधियों ने खिलाड़ियों को सम्मनित किया। इसके बाद रिले अवध विश्वविद्यालय से होते हुए नाका हनुमानगढ़ी रिकाबगंज चैराहा से नियावां चैराहा से गुदड़ी बाजार चैराहा से आंख अस्पताल तिराहा अमानीगंज तिराहा से गुप्ता होटल-टेढ़ी बाजार श्रीराम अस्पताल तिराहा से श्रृंगारहाट तिराहा, नयाघाट चैराहा होत हुए राम की पैड़ी पहुंची इसके बाद गोरखपुर रवाना हुई।

शतरंज ओलंपियाड का मशाल लिए नगर विकास मंत्री एवं ऊर्जा मंत्री अरविंद कुमार शर्मा
शतरंज ओलंपियाड का मशाल लिए नगर विकास मंत्री एवं ऊर्जा मंत्री अरविंद कुमार शर्मा

शतरंज ओलंपियाड दुनिया का सबसे बड़ा खेल आयोजन

ओलंपिक खेलों के बाद शतरंज ओलंपियाड दुनिया का सबसे बड़ा खेल आयोजन है। टोक्यो ओलंपिक खेलों में 206 भाग लेने वाले देश थे। भारत में होने वाले 44वें शतरंज ओलंपियाड-2022 188 से अधिक देश शामिल होंगे। हालांकि देशों की संख्या और बढ़ सकती है। भारत इस बार खेल की मेजवानी कर रहा है। खेल एवं युवा कल्याण मंत्रालय की ओर से 44वें शतरंज ओलम्पियाड प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। जो 28 जुलाई 2022 से 10 अगस्त 2022 तक चलेगा। प्रतियोगिता का आयोजन चेन्नई महाबलीपुरम (तमिलनाडु) में किया जाएगा।

रूस यूक्रेन युद्ध के चलते मास्को में प्रतियोगिता का नहीं हुआ आयोजन

ओलंपियाड मास्को, रूस में आयोजित होने वाला था और वे इसके लिए लगभग दो साल से तैयारी कर रहे थे। हालांकि, यूक्रेन के साथ मौजूदा स्थिति के कारण, इस आयोजन को रद्द करना पड़ा। जिसके बाद अखिल भारतीय शतरंज महासंघ ने प्रतियोगिता का आयोजन करने की जिम्मेदारी लिया। भारत पहली बार शतरंज प्रतियोगिता की मेजबानी कर रहा है। जो ऐतिहासिक है। एशिया में 30 साल और भारत 95 वर्षों बाद प्रतियोगिता का आयोजन होने जा रहा है।

खबरें और भी हैं...