पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

औरैया में ठगी करने वाले चार आरोपी गिरफ्तार:20 लाख का सामान बरामद, आरोपियों पर दर्ज हैं कई मुकदमे

औरैया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।

औरैया जिले में दुकानदारों से ठगी करने वाले युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी युवक दुकानदारों को विश्वास में लेकर सामान गाड़ी में लादकर फरार हो जाते थे। ये घटनाएं औरैया में ही नहीं बल्कि बीते छह माह में बुलंदशहर, कासगंज, एटा, फिरोजाबाद, इटावा मैनपुरी आदि जगहों पर की हैं। एसओजी टीम व थानों की पुलिस ने वाहन चेकिंग में इन चारों को दबोच लिया। इनके पास से करीब 20 लाख रुपये का माल बरामद हुआ है। यह लोग कई साल से ठगी कर रहे है और पर विभिन्न जनपदों में दर्जन भर से अधिक मुकदमे दर्ज हैं।

आरोपियों के पास से बरामद सामान।
आरोपियों के पास से बरामद सामान।

कई जिलों के युवक थे शामिल

मामले का खुलासा करते हुए एएसपी शिष्य पाल ने बताया कि हाल ही में औरैया व एरवाकटरा में व्यापारियों के साथ घटना हुई थी। जिस पर एसओजी व संबंधित थानों की फोर्स इन आरोपियों की तलाश में थी। मुखबिर से सूचना पर एरवाकटरा के देईपुर हनुमान मंदिर के निकट वाहन चेकिंग की गई। जिसमें पुलिस ने गैंग का सरगना सुशील यादव उर्फ छोटू पुत्र चंद्रपाल निवासी गांव पेडत थाना एका जिला फिरोजबाद, अविनेन्द्र यादव उर्फ प्रधान पुत्र सत्यप्रकाश निवासी ढैकि बढ़ेडा कोतवाली देहात जिला एटा,ज्ञानवेंद सिंह यादव पुत्र सुखवीर निवासी खेड़ी थाना एका जनपद फिरोजाबाद व नीटू यादव पुत्र डोरीलाल निवासी रुद्रपुर थाना एका जनपद फिरोजाबाद को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपियों के पास से दो कारें भी हुई बरामद

टाटा नेक्सन व वैगनआर गाड़ी भी कब्जे में ले ली। इसके साथ बैट्री इनवर्टर सहित 20 लाख का माल बरामद कर लिया। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वह लोग पिछले कई सालों से ठगी करते आ रहे है। मूवी और वेब सीरिज से आइडिया लेकर वारदात को अंजाम देते थे।

गिरफ्तार करने वाली टीम को मिलेगा 15 हजार रुपए का पुरस्कार

अभियुक्त सुशील यादव ने बताया कि पिछले साल उसके गैंग के सदस्य इटावा में पकड़े गए थे वह भी पकड़ गया था जेल से छूटने के बाद पुराने सदस्य तैयार नहीं हुए तो उसने नए सदस्यों को मिलाकर नया गैंग बनाया था। एएसपी ने बताया कि यह लोग कई जगह पुलिस में होने की बात कहकर भी व्यापारियों को विश्वास में लेते थे। इन चारों के खिलाफ कई जनपदों में विभिन्न मामलों के एक एक दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। एएसपी शिष्य पाल ने गिरफ्तार करने वाली टीम को 15 हजार नकद पुरस्कार देने की भी घोषणा की।

खबरें और भी हैं...