पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बुंदेलखंड एक्सप्रेस के कार्य का अवनीश अवस्थी ने किया निरीक्षण:10 जुलाई के बाद पीएम मोदी करेंगे बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का शुभारंभ, काम अंतिम चरण में

अजीतमल (औरैया)2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अजीतमल के लोगों को जल्द ही एक्सप्रेस-वे की सौगात मिलने मिलने वाली है। इटावा को चित्रकूट से जोड़ने वाले बुंदेलखंड एक्सप्रेस का काम अंतिम चरण है। जनपद के लोगों को यह दूसरा एक्सप्रेस वे होगा। इससे पहले आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे जनपद की सीमा से होकर गुजरा था। जनपद के लोगों के लिए इंतजार की घड़ियां खत्म होने वाली है।

पांच दिन में दूसरी बार किया निरीक्षण
10 जुलाई के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का शुभारंभ करेंगे। बीते पांच दिनों में शनिवार को अपर मुख्य सचिव ( गृह ) अवनीश अवस्थी ने पूरे पैकेज का निरीक्षण किया। साथ ही निर्माणाधीन कंपनी के इंजीनियरों से बात कर जल्द काम पूरा करने के निर्देश दिए। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे के इटावा के कुदरैल से शुरू होकर औरैया, जालौन, बांदा, होते हुए चित्रकूट में खत्म होगा।

पंद्रह पेट्रोलिंग वाहनों की होगी तैनाती
इटावा से लेकर चित्रकूट तक लगभग 296 किमी लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे लोगों की सुरक्षा का भी विशेष ख्याल रखा जाएगा। सुरक्षा की दृष्टि से पंद्रह पेट्रोलिंग वाहनों की तैनाती की जाएगी। जो हर समय लोगों की मदद के लिए रंहेगे। आपातकालीन स्थिति में लोगों को मदद लेने के लिए हेल्पलाइन नम्बर 1033 पर फोन कर पेट्रोलिंग अधिकारी की मदद ली जा सकेगी।

आठ नदियों के ऊपर से गुजरेगा एक्सप्रेस वे
बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे केन , बेतवा , बागेंन , श्यामा ,चंदावल ,विरमा , यमुना और सेंगर नदी के ऊपर से होकर गुजरेगा। इन नदियों पर बने पुलों का काम अंतिम चरण में है। साथ ही इस 296 किमी लंबे एक्सप्रेस वे में कुल छह पेट्रोल पंप बनाए गए हैं।

अपर मुख्य सचिव ( गृह ) अवनीश अवस्थी ने किया निरीक्षण।
अपर मुख्य सचिव ( गृह ) अवनीश अवस्थी ने किया निरीक्षण।

जनपद के लोगों को मिहौली के पास मिला कट
औरैया जनपद के लोगों को इस एक्सप्रेस वे पर सफर करने के लिये जनपद में इटावा - कानपुर हाईवे पर मिहौली के पास उतार - चढ़ाव बनाए गए हैं। यहां से लोग दिल्ली आगरा और चित्रकूट जा सकेंगे।

सीएम योगी का है ड्रीम प्रोजेक्ट
बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का ड्रीम प्रोजेक्ट है। इटावा से लेकर चित्रकूट तक पूरे पैकेज का लगभग 98 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। बचा हुआ काम दस जुलाई तक पूरा कर लिया जाएगा। जुलाई के दूसरे सप्ताह में प्रधानमंत्री इसका उद्घाटन करेंगे।