पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गजरौला में समय से कार्यालयों में नहीं आते अधिकारी:खाली कुर्सियां देख लौट जा रहे फरियादी, समस्याओं का नहीं हो पा रहा समाधान

धनौरा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

औद्योगिक नगरी गजरौला में अफसर अपनी रवैये में सुधार नहीं ला पा रहे हैं। सीएम योगी के आदेशों की औद्योगिक नगरी में धज्जियां उड़ाई जा रहीं हैं। अफसर कार्यालयों में समय से नही आ रहे हैं। इनकी वजह से पीड़ितों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

सुबह नौ बजे तक सभी अधिकारियों को दफ्तर में पहुंचने के निर्देश हैं। बावजूद इसका पालन नहीं हो रहा है। गुरुवार को दैनिक भास्कर ने इसकी पड़ताल की तो हकीकत सामने आ गई। 11 बजे तक भी सरकारी दफ्तरों में अधिकारियों की कुर्सी खाली रहीं। कुछ जगहों पर कर्मचारी भी नहीं पहुंचे थे।

बंद मिला एसडीओ का दफ्तर

गजरौला में गुरुवार को पूर्वाह्न 09:10 बजे रेलवे ओवरब्रिज की साइड में 132 केवीए बिजलीघर के पास एसडीओ कार्यालय बंद मिला। उनके दफ्तर के पास बाबू का कक्ष और बिल जमा करने की विंडो खुली थी। एसडीओ से मिलने के लिए दो-तीन उपभोक्ता भी खड़े थे। पूछने पर बोले, बहुत देर से खड़े हैं लेकिन, एसडीओ साहब अभी तक नहीं पहुंचे हैं।

चिकित्सा अधीक्षक के अलावा नहीं मिले अन्य चिकित्सक

गजरौला सीएचसी का जायजा लिया तो यहां पर चिकित्सा अधीक्षक के अलावा अन्य चिकित्सक मौजूद नहीं मिले। जिनके कक्षों के बाहर बैठकर मरीज उनके आने का इंतजार करते दिखाई दिए। मरीजों ने बताया की लगभग आधे घंटे से ज्यादा समय डॉक्टर के इंतजार में हो गया है। लेकिन अभी तक कोई डॉक्टर नहीं पहुंचा है।

दफ्तर नहीं पहुंचीं खंड विकास अधिकारी

गजरौला में सुबह 9:17 बजे जब खंड विकास कार्यालय में पहुंचे तो वहां पर सन्नाटा था। दो-तीन कर्मचारी नजर आए। खंड विकास अधिकारी की कुर्सी भी खाली दिखी। एडीओ पंचायत की कुर्सी भी खाली थी। कर्मचारियों से पूछा तो बोले, बीडीओ मैडम पर अमरोहा का चार्ज भी है। हो सकता है, वहां पर गईं हों।

नहीं आए अधिशासी अधिकारी

गजरौला में सुबह 9 : 24 बजे तक भी नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी विजेंद्र सिंह पाल कार्यालय नही आए थे। उनका दफ्तर तो खुला था लेकिन दफ्तर में कोई मौजूद नहीं था। वहां मौजूद एक दो कर्मचारी से उनके बारे में पूछा तो उन्होंने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया। साथ ही उनके कार्यालय के बाहर कई शिकायतकर्ता खड़े दिखाई दिए।

महिला थाने में मिला सिर्फ एक सिपाही

गजरौला कोतवाली परिसर में बने महिला थाने का जायजा लिया गया तो वहां सिपाही संजय कुमार तैनात दिखाई दिया। लेकिन महिला थाना प्रभारी पूनम पांडेय और महिला पुलिस कर्मी कोई नजर नहीं आई। महिला थाने में शिकायत लेकर आई महिलाओं की सिपाही संजय कुमार शिकायतें सुन रहे थे।

खबरें और भी हैं...