पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59595.69-0.84 %
  • NIFTY17827.75-0.62 %
  • GOLD(MCX 10 GM)480700.26 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633193.1 %

ऊंचाहार-अमेठी रेल परियोजना बंद, शुरू हुई सियासत:कांग्रेस MLC ने स्मृति का जारी किया VIDEO,बोले-मेगा फूड पार्क, ट्रिपल आईटी और पेपर मिल के बाद अब रेल परियोजना भी हुई बंद

अमेठी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दीपक सिंह ने कहा कि क्षेत्र का सांसद और सरकारें क्षेत्र के विकास के लिए होती हैं। विनाश के लिए नही। - Money Bhaskar
दीपक सिंह ने कहा कि क्षेत्र का सांसद और सरकारें क्षेत्र के विकास के लिए होती हैं। विनाश के लिए नही।

अमेठी जिले में साल 2009 में अमेठी में ऊंचाहार-अमेठी रेल परियोजना लाई गई थी। 2013 में तत्कालीन यूपीए सरकार ने इसके लिए 965 करोड़ रुपए का बजट भी जारी किया था। अब इसे भाजपा सरकार ने बंद कर दिया है। जिसको लेकर यूपी चुनाव से पहले अमेठी का सियासी पारा गर्म हो गया है। यहां कांग्रेस ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को प्रेस कांफ्रेस कर घेरा है। कांग्रेस एमएलसी दीपक ने कहा कि जब से अमेठी में स्मृति ईरानी के पैर पड़े हैं और भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है। अमेठी में विकास नही विनाश की परंपरा शुरु हो गई है।

उन्होंने कहा कि पहले अमेठी से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद मेगा फूड पॉर्क छीना गया। अमेठी से उसी विभाग की मंत्री रहते हुए ट्रिपल आईटी छीनी गई। अमेठी से पेपर मिल छीनकर ले जाई गई। अब उसके बाद से अमेठी से एक ऐसी योजना को बंद किया गया है। जिसके संबंध में स्मृति ईरानी ने लोकसभा में गांधी-नेहरु परिवार पर आरोप लगाए थे।

दीपक सिंह ने स्मृति इरानी का एक वीडियो भी जारी किया है।
दीपक सिंह ने स्मृति इरानी का एक वीडियो भी जारी किया है।

कांग्रेस एमएलसी ने जारी किया स्मृति का वीडियो

दीपक सिंह ने कहा कि क्षेत्र का सांसद और सरकारें क्षेत्र के विकास के लिए होती हैं। विनाश के लिए नही। दीपक सिंह ने एक वीडियो भी जारी किया है। जोकि 11 जुलाई 2021 का है। जिसमे लोकसभा में स्मृति ईरानी ने कहा था कि नेहरु के समय से चलता चला आ रहा है कि पीढ़ी दर दर पीढ़ी अमेठी से चुनाव लड़े। ऊंचाहार-अमेठी में रेल लाइन जाएगी। इसका चार पीढ़ियों ने जनता को सपना दिखाया है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2013 में राहुल गांधी और उस समय की रेल मंत्री मल्लिका अर्जुन खड़गे ने ऊंचाहार में इस रेल लाइन का शुभारंभ किया था। 965 करोड़ की परियोजना में बजट का प्राविधान पहले से कर दिया गया था। जिससे ऊंचाहार-अमेठी की रेलवे लाइन जो जौनपुर को जाती थी, उसका काम शुरु हो सके। राज्यसभा में सवाल पूछा गया तो सरकार ने कहा धन उपलब्ध है। नक्शा बनाने के लिए राज्य सरकार और नक्शा विभाग को कह दिया गया है। लेकिन जिस तरह पहले की योजनाओं को बंद कराया वैसे ही इस योजना को उनकी सरकार ने बंद करवा दिया।

इसलिए बंद की गई परियोजना

बता दें कि, कांग्रेस शासनकाल के दौरान 2009 में 80 किमी लंबे ऊंचाहार से अमेठी के रेलवे ट्रैक को स्वीकृत मिली थी। जिसके निर्माण के लिए किसानों से उनकी जमीनों का अधिग्रहण किया जाना सुनिश्चित हुआ था। जीएम उत्तर रेलवे आशुतोष कुमार ने हाल ही में कहा था कि ऊंचाहार से अमेठी को बनने वाली रेलवे लाइन पर रेलवे ने ट्रैक को बनाने की लिए सर्वे कराया है, जिसमें इसका रेट आफ रिटर्न शून्य पाया गया है। जिसके चलते इस रेलवे ट्रैक को बनाने का कार्य नही किया जा रहा है।

फूड पार्क कैंसिल होने के बाद राहुल गांधी ने मई 2015 में तब डेढ़ किमी का तपती दुपहरिया में पैदल मार्च किया था।
फूड पार्क कैंसिल होने के बाद राहुल गांधी ने मई 2015 में तब डेढ़ किमी का तपती दुपहरिया में पैदल मार्च किया था।

फूड पार्क बंद होने पर राहुल ने किया था पैदल मार्च

साल 2015 में भाजपा की केंद्र सरकार ने अमेठी की बहुप्रतीक्षित परियोजना फूड पार्क की योजना को ठन्डे बस्ते में डाल दिया था। तब अमेठी की सियासत की गर्मी अचानक से बढ़ गई थी। राहुल गांधी ने मई 2015 में तब डेढ़ किमी का तपती दुपहरिया में पैदल मार्च किया था। गाड़ी के बोनट पर खड़े होकर किसानों को संबोधित किया था और भाजपा सरकार पर इसका ठीकरा फोड़ा था।

खबरें और भी हैं...