पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अमेठी में थाना दिवस पर नहीं दर्ज हुआ केस:जमीनी विवाद में पीड़ित को दबंगों ने था पीटा, थाने के लगा चुका है कई चक्कर

अमेठी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

योगी सरकार ने थानों में फरियादियों के साथ अच्छे बर्ताव, उन्हें बैठने की व्यवस्था से लेकर पानी पिलाने तक निर्देश दे रखा हो लेकिन खाकी के लिए यह आदेश महज हवा हवाई हैं। यहां आए दिन फरियादियों को न्याय के लिए अधिकारियों के चक्कर काटने पड़ते हैं। ताजा मामला आज थाना दिवस में ही देखने को मिला है।

घर में घुसकर दबंगों ने पूरे परिवार को था पीटा

जानकारी के अनुसार मामला अमेठी कोतवाली क्षेत्र के मजरे कोहरा ग्राम ढोढई का पुरवा गांव से जुड़ा है। गांव निवासी सुशील कुमार जोरिया जोरिया कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि पड़ोसी रमेश विश्वकर्मा से जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। जिसमें बीते शुक्रवार 13 मई को रमेश के परिजन आरती व सुमन के हमराह होकर गांव के ही दुर्गादीन, राजू, रंजीत लाठी-डंडे व धारदार हथियार लेकर रात 8 बजे उसके के घर में घुस आए।

आरोप है कि आरोपी पीड़ित की मां सुमित्रा देवी, बहन कविता व भाई सुमित को मारने लगे। हल्ला-गुहार सुन कर जब स्वंय पीड़ित उन्हें बचाने के लिए दौड़ा तो आरोपियों ने पीड़ित के सिर पर धारदार हथियार से वार कर दिया।

थाने में सुनवाई न होने पर थाना दिवस से थी उम्मीद

जिससे सुशील का सर फट गया और वह अचेत होकर जमीन पर गिर गया। मरा समझ कर आरोपी जान से मार देने की धमकी देते हुए वहां से भाग गये। घटना में पीड़ित सुशील व उसकी मां, बहन व भाई को गंभीर चोटे आई हैं। सुशील ने आगे बताया कि हम थाने पर गए लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई तो आज थाना दिवस में आए। सुबह ही एप्लीकेशन दे दिया तीन बज रहे हैं लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई।