पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अमेठी में गायत्री प्रजापति पर ED की कार्रवाई:2 करोड़ 25 लाख का विमल पैलेस किया जब्त; एक दिन पहले भी करोड़ों की संपत्ति जब्त की थी

अमेठी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेठी में पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति पर मनी लॉड्रिंग मामले में ईडी ने कार्रवाई की है। ईडी की टीम ने धम्मौर रोड स्थित विमल पैलेस और दुर्गापुर रोड स्थित एक बड़े भूखंड को जब्त किया। ईडी ने दोनों स्थानों पर अपना नोटिस चस्पा कर दिया है। एक दिन पहले भी ईडी ने गायत्री प्रजापति के बेटे-बेटियों के नाम पर दर्ज पांच बेशकीमती भूखंडों को जब्त किया था। जिसकी कीमत करोड़ों रुपये है।

विमल पैलेस को ईडी ने किया जब्त
गैंगरेप के आरोप में जेल में बंद पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। एक दिन पहले अमेठी पहुंची ईडी की टीम ने गायत्री प्रजापति के छोटे बेटे अनुराग प्रजापति और उनकी दो बेटियों सुधा और अंकिता प्रजापति के नाम दर्ज 5 भूखंडों को जब्त कर अपना नोटिस चस्पा कर दिया।

पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति इस समय गैंगरेप के मामले में जेल में बंद हैं।
पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति इस समय गैंगरेप के मामले में जेल में बंद हैं।

गुरुवार को एक बार फिर ईडी की टीम ने अमेठी के दुर्गापुर रोड स्थित बघवरिया गांव में बेशकीमती भूखंड को जब्त कर अपना नोटिस चस्पा कर दिया है। इस कार्रवाई के बाद ईडी की टीम अमेठी कस्बे के धम्मौर रोड स्थित विमल पैलेस पहुंची, जहां संपत्ति को जब्त करते हुए नोटिस चस्पा कर दिया।

यहां पर कार्रवाई करने के बाद ईडी की टीम सुलतानपुर जनपद के लिए रवाना हो गई है।
यहां पर कार्रवाई करने के बाद ईडी की टीम सुलतानपुर जनपद के लिए रवाना हो गई है।

दो करोड़ 25 लाख का पैलेस जब्त
मंत्री रहने के दौरान गायत्री प्रजापति ने करीब 2 करोड़ 25 लाख रुपए में विमल पैलेस को खरीदा था। कार्रवाई को लेकर ईडी के किसी भी अधिकारी ने कुछ भी बोलने से मना कर दिया। कार्रवाई के बाद ईडी की टीम सुलतानपुर जिले के लिए रवाना हो गई। बताया जा रहा है कि ईडी सुलतानपुर में भी पूर्व कैबिनेट मंत्री के कई भूखंडों पर कार्रवाई करेगी।

सपा सरकार में कद्दावर मंत्री थे गायत्री प्रजापति
2012 से 2017 की अखिलेश यादव सरकार में कद्दावर मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति गैंगरेप आरोप में जेल में बंद हैं। सरकार के निर्देश पर ईडी जेल में बंद पूर्व मंत्री के संपत्तियों की जांच कर रही है। लंबे समय से पूर्व मंत्री की संपित्त का विवरण खंगालने में जुटी ईडी ने बड़े पैमाने पर गड़बड़ी पकड़ी है। जांच के दौरान ईडी उनके परिजनों से पूछताछ भी कर चुकी है।

खबरें और भी हैं...