पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अमेठी में विद्युतकर्मियों का प्रदर्शन चौथे दिन भी जारी:15 सूत्रीय मांगों को लेकर हाथ में पोस्टर और मशाल लेकर जताया विरोध

अमेठी जिला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अमेठी में  15 सूत्रीय मांगों को लेकर विद्युत विभाग के कर्मचारियों का प्रदर्शन चौथे दिन भी जारी रहा। - Money Bhaskar
अमेठी में  15 सूत्रीय मांगों को लेकर विद्युत विभाग के कर्मचारियों का प्रदर्शन चौथे दिन भी जारी रहा।

अमेठी में ऊर्जा सेक्टर के निजी करण सहित 15 सूत्रीय मांगों को लेकर विद्युत विभाग के कर्मचारियों का प्रदर्शन चौथे दिन भी जारी रहा। एक दिन पहले जहां बिजलीकर्मियों ने बुद्धि-शुद्धि यज्ञ करके शासन को जगाने की कोशिश की तो आज चौथे दिन भी एक्सईएन ऑफिस में जोरदार प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी की। विरोध प्रदर्शन का आज चौथा दिन रहा।

दरअसल ऊर्जा क्षेत्र के निजीकरण समेत 15 सूत्रीय मांगों को लेकर बिजली विभाग के कर्मचारी आज अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार कर विरोध प्रदर्शन पर उतर आए। पहले दिन जहां बड़ी संख्या में विद्युत कर्मचारियों ने आज हाथों में पोस्टर और मसाल लेकर प्रदर्शन किया तो दूसरे दिन अधिशाषी अभियंता ऑफिस में बैठकर जमकर नारेबाजी की।

अमेठी में 15 सूत्रीय मांगों को लेकर विद्युत विभाग के कर्मचारियों का प्रदर्शन चौथे दिन भी जारी रहा।
अमेठी में 15 सूत्रीय मांगों को लेकर विद्युत विभाग के कर्मचारियों का प्रदर्शन चौथे दिन भी जारी रहा।

तीसरे दिन किया था बुद्धि-शुद्धि यज्ञ
तीसरे दिन कर्मचारियों ने आफिस परिसर में बुद्धि शुद्धि यज्ञ करके शासन को जगाने की कोशिश की तो आज चौथे दिन बड़ी संख्या में कर्मचारी अधिशाषी अभियंता ऑफिस परिसर में धरने पर बैठकर नारेबाजी की। 15 सूत्रीय मांगों में उर्जा सेक्टर निजीकरण वेतन विसंगतियां इंजीनियर प्रोटेक्शन ऐप सहित अन्य मांगे शामिल हैं।

कर्मचारियों ने जमकर की नारेबाजी
इसको लेकर यह अनिश्चितकालीन विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। विरोध प्रदर्शन के दौरान कर्मचारियों ने शासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे सहायक अभियंता अशोक यादव ने कहा कि विद्युत वितरण संघर्ष समिति बैनर तले हम सब विरोध प्रदर्शन विभाग में खराब वातावरण के लिए कर रहे हैं। हमारी 15 सूत्रीय मांगे हैं और हम मांगों को पूरा कराने को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। यह धरना प्रदर्शन अगर सहमति नहीं मिली तो अनिश्चितकालीन चलता रहेगा।

खबरें और भी हैं...