पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एक क्लिक में अपराधियों का डाटा आएगा सामने:अमेठी में नैफिस सेल का गठन,जेल जाने से पहले लिए जाएंगे फिंगर प्रिंट

अमेठी जिला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेठी जिले में अपराधियों के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई लगातार जारी है। एसपी ने नैफिस ब्यूरो सेल का गठन किया है। नैफिस ब्यूरो सेल में अपराधियों को चालान न्यायालय भेजने के पहले फिंगर प्रिंट लिए जाएंगे।फिंगर प्रिंट लेने से अपराधियों पर लगाम लगाने और उनकी पहचान करने में सहूलियत मिलेगी। सेल के एक सब इंस्पेक्टर और दो कॉन्स्टेबल को तैनात कर दिया गया है।

एक क्लिक में अपराधियों का डाटा आएगा सामने
जिले में मारपीट, लूट, डकैती गंभीर अपराध के साथ हत्या व महिला अपराध सहित छोटे और बड़े मामलों में अक्सर अपराधियों के आपराधिक इतिहास को ढूंढने में परेशानी होती है। इसके लिए इस थाने से उस थाने में जानकारी एकत्र करने में ही कई दिन लग जाते हैं।

नैफिस ब्यूरो सेल के गठन के बाद अब अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद अब उनका चालान न्यायालय भेजने से पहले पहले उनका फिंगर प्रिंट लिया जाएगा। उसके बाद ही उनका चालान न्यायालय भेजा जाएगा। फिंगर प्रिंट से पुलिस को अपराधियों को पहचानने में राहत मिलेगी। अपराधियों का एक ही क्लिक में पूरा डाटा सामने आ जाएगा।

नैफिस सेल में इन लोगों की हुई तैनाती
जिले में नैफिस ब्यूरो कार्यालय की शुरुआत करा दी गई है। इसके लिए एक उप निरीक्षक और 2 कॉन्स्टेबल की तैनाती की गई है। सेल में तैनात किए गए जिम्मेदारों को यह जिम्मेदारी भी दी गई है कि किसी भी मामले के आरोपियों को उनका चालान न्यायालय भेजने से पहले उनका फिंगर प्रिंट लिया जाए। इसका पूरा डाटा सिस्टम पर भी मेंटेन किया जाएगा।

मामले पर अमेठी एसपी इलामारन जी ने कहा कि पूरे प्रदेश में भारत सरकार के निर्देश पर नेशनल ऑटोमेटिक फिंगरप्रिंट इंफॉर्मेशन सिस्टम का गठन किया गया है। इस पहल में तीन कर्मचारियों की नियुक्ति भी की गई है। यह पुलिस के लिए बहुत ही अच्छी पहल है। पहले मौखिक रूप से अपराधियों की पहचान पता करनी पड़ती थी लेकिन इस पहल के बाद अपराधियों का अपराधिक इतिहास तुरंत तस्दीक हो जाएगा।

खबरें और भी हैं...