पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

3 बहनें कुएं में कूदीं, 2 की मौत:बड़ी बहन को बचाने में छोटी की गई जान; तीसरी झाड़ी में फंसकर बची

अमेठी जिला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेठी में हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां पहले बड़ी बहन ने कुएं में छलांग लगा दी। उसे बचाने के चक्कर में दो छोटी बहनें भी कुएं में कूद गईं। हादसे में बड़ी बहन और उसके पीछे कूदी बहन की डूबकर मौत हो गई, जबकि सबसे छोटी बहन झाड़ियों में फंसने से बच गई। बताया जा रहा है कि पारिवारिक विवाद के बाद यह स्थिति हुई।

घटना के बाद बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर इकट्ठा हो गए। ग्रामीणों ने तत्काल मोहनगंज पुलिस को दी। SP इलामारन ने भी घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने दो शवों को कुएं से बाहर निकलवाकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। तीसरी बहन की हालत ठीक बताई जा रही है।

मामला मोहनगंज थाना क्षेत्र के फूला गांव का है। शिवदर्शन मौर्य की 6 बेटियां और दो बेटे हैं। बड़ी बेटी की शादी हो गई है। बड़ा बेटा संदीप दिल्ली में रहता है, जबकि दूसरे बेटा मंशाराम की दिमागी हालात ठीक नहीं है। कुछ दिनों से लापता है। जिसे लेकर संदीप अपनी विवाहित बहन शिवकुमारी से फोन पर बात कर रहा था।

ये फोटो शिवकान्ती की है, जिसकी दो बहनों की कुएं में डूबने से मौत हो गई है।
ये फोटो शिवकान्ती की है, जिसकी दो बहनों की कुएं में डूबने से मौत हो गई है।

बोला पिता- बाप बेटे को लड़ाना चाहती हो
परिजनों के मुताबिक, शिवकुमारी ने अपने भाई को फोन पर बताया कि मंशाराम पिता की डांट के कारण कहीं चला गया है। पिता को समझाओ। यह बात पिता शिव दर्शन ने सुन ली और अपनी बेटी को फटकार लगाई कि तुम पिता और बेटे के बीच लड़ाई कराना चाहती हो।

ये प्रत्यक्षदर्शी महिला है, जिस समय घटना हुई तो ये अपने खेत में थी।
ये प्रत्यक्षदर्शी महिला है, जिस समय घटना हुई तो ये अपने खेत में थी।

इसके बाद शिव दर्शन ने घर छोड़ने की बात कहते हुए अपना सामान अपने बैग में पैक किया और जाने लगा तो शिवकुमारी ने काफी मान-मनौव्वल की। खुद ससुराल चले जाने की बात कही। लेकिन, शिव दर्शन ने मना कर दिया और बैग लेकर घर से निकल गए।

एसपी ने मौके पर पहुंचकर जानकारी ली।
एसपी ने मौके पर पहुंचकर जानकारी ली।

पिता नहीं माना तो कूद गई विवाहित बेटी

पिता के घर से जाने से परेशान होकर शिव कुमारी (21) गुस्से में घर से बाहर 300 मीटर दूर जंगल में कुएं की ओर भागी। अनहोनी का अंदेशा जताकर उसको बचाने उसकी छोटी बहनें चंद्रकांति (12) और शिवकांती भी पीछे दौड़ीं। शिव कुमारी कुएं में कूद गई, जिसे बचाने के लिए चंद्रकांति भी कुएं में कूदी, लेकिन जो झाड़ में फंसकर अटक गई।​​​ इसके बाद दोनों को ​​​​बचाने में चंद्रकांति ने भी छलांग लगा दी और डूब गई।

इसी कुएं में डूबने से हुई है दाे बहनों की मौत।
इसी कुएं में डूबने से हुई है दाे बहनों की मौत।

गांव वालों ने सभी को निकला, दो बहनों ने तोड़ा दम
गांव वालों के प्रयास से शिवकुमारी और चन्द्रकांति को कुएं से निकालकर सीएचसी तिलोई भेजा गया, जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। जबकि घायल शिवकांती को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां उसकी स्थिति खतरे से बाहर है। घटना की सूचना मिलते ही शिव दर्शन लौट आया और कुएं के पास बैठकर रोने बिलखने लगा।

दो बहनों की मौत क बाद उनके घर पहुंचीं गांव की महिलाएं।
दो बहनों की मौत क बाद उनके घर पहुंचीं गांव की महिलाएं।

देर रात को मौके पर पहुंचे SP
दो सगी बहनों की मौत की सूचना मिलते ही प्रशासनिक अमले में भी हड़कंप मच गया और देर रात एसपी इलामारन जी ने भी घटनास्थल पहुंचकर निरीक्षण किया और घटना के बारे में जानकारी ली।​ घायल चंद्रकांति से अस्पताल जाकर पूरे मामले की जानकारी ली। फिलहाल पुलिस ने दोनों बहनों के शव को पोस्टमॉर्टम के लिये भेज दिया है। ​

ये फोटो बड़ी बहन शिवकुमारी की है, जो सबसे पहले कुएं में कूदी थी।
ये फोटो बड़ी बहन शिवकुमारी की है, जो सबसे पहले कुएं में कूदी थी।
ये फाइल चंद्रकांति की है।
ये फाइल चंद्रकांति की है।
खबरें और भी हैं...