पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अमेठी में पीड़ित का 2 बार शांतिभंग में किया चालान:दबंगों ने घर में घुसकर की पीटा, पुलिस ने नहीं लिखी FIR, स्मृति ईरानी और CM से मांगा इंसाफ

अमेठी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेठी में पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप लगा है। दबंगों ने घर में घुसकर महिलाओं से मारपीट के मामले में पुलिस ने पीड़ित का ही दो बार शांतिभंग में कार्रवाई कर दी। आरोपियों को पुलिस ने क्लीनचिट दे दिया। अब पीड़ित परिवार ने डीएम, सांसद और मुख्यमंत्री से न्याय की गुहार लगाई है।

मामला अमेठी के संग्रामपुर थाना क्षेत्र के ठेंगहा गांव का है। छेदी गुप्ता की बेटी वंदना गुप्ता और शालू गुप्ता ने बताया कि 5 जून को गांव के ही रविशंकर बरनवाल, पंकज बरनवाल और पीयूष, प्रत्युस पुत्रगण रविशंकर ने मुझे मेरी छोटी बहन शालू और माता प्रभावती के साथ घर में घुस कर मारपीट की। मेरे और शालू के कपड़े भी फट गये। गंभीर चोटें भी आई, जिसका वीडियो मैंने अपने एमआई के मोबाइल फोन पर बनाई थी। लोगों ने मोबाइल भी छीन लिया।

जिसका नंबर 7232919213 है। जिसकी तहरीर पीड़िता ने संग्रामपुर थाने में दर्ज कराई थी। मुकदमा पंजीकृत होने व उचित धाराओं का समायोजन नहीं होने के कारण उक्त अभियुक्त लगातार प्रताड़ित कर रहे हैं। खुले ऐलानिया जान से मारने की धमकी दें रहे हैं।

एप्लीकेशन फाड़कर फेका

पीड़िता वंदना गुप्ता ने बताया कि दबंगों ने मारपीट की। शिकायत करने जब हम थाने गये तो वहां मौजूद परशुराम ओझा, तेज बहादुर ने मेरी एप्लीकेशन फाड़ कर फेंक दिया। एफआईआर तक नहीं लिखी। उल्टा हमें गाली देकर वहां से भगा दिया।

उसके बाद से मैं न्याय के लिए अमेठी, गौरीगंज के चक्कर लगा-लगाकर थक गई। आज तक इन दबंगों के खिलाफ कहीं से कोई कार्रवाई नहीं हुई। मैं सांसद स्मृति ईरानी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से से शिकायत करके न्याय की गुहार लगाई।

खबरें और भी हैं...