पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अमेठी में जंगल में मिला युवक का कंकाल:21 दिन से था लापता, केमिकल डालकर जलाया गया था शव; कपड़े से हुई पहचान

अमेठीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेठी में 21 दिन से लापता युवक का कंकाल आज उसी के गांव से सटे जंगल में मिला। हत्या करने के बाद शव को केमिकल डालकर जलाया गया था, ताकि कोई पहचान न सके। युवक दूध बेचने का काम करता था। परिजनों ने उसके कपड़े से पहचान की। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही जांच-पड़ताल में जुटी है।

मामला बाजार शुकुल थाना क्षेत्र के शेखवापुर गांव का है। गांव निवासी रजिया बेगम ने 7 जून को थाने पर तहरीर देकर बताया था, उनका बेटा मोहम्मद आलम (33) लापता हो गया है। आलम 6 जून को घर से साइकिल से दूध देने के लिए निकला था, लेकिन वापस नहीं लौटा। तलाश करने के दौरान पता चला कि सैदपुर गांव निवासी सुशील और सुनील, आलम को पकड़कर ले गए हैं। उनके घर पर ही आलम की साइकिल की चाभी मिली थी। इस मामले में पुलिस ने सिर्फ गुमशुदगी दर्ज की थी।

जंगल में झाड़ियों के बीच में पड़ा कंकाल।
जंगल में झाड़ियों के बीच में पड़ा कंकाल।

कंकाल पर पड़े कपड़े से की पहचान
गांव के ही दूधाधारी जंगल में आज एक कंकाल मिलने की सूचना मिली। जानकारी हुई तो परिवार के लोग भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने कंकाल पर पड़े कपड़े से आलम की पहचान की। सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। परिजनों ने मांग की कि जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होती, तब तक कंकाल को पोस्टमार्टम के लिए नहीं भेजेंगे।

आलम के परिवार वालों ने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस ने सुनील और सुशील से पूछताछ के बाद छोड़ दिया था। जबकि इन्हीं दोनों ने ही हत्या कर शव को जंगल में फेंका है। फिलहाल पुलिस ने परिजनों को समझा-बुझाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही सुनील और सुशील पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

मोहम्मद आलम के छोटे भाई शानू ने पुलिस पर मामले की जांच में लापरवाही करने का आरोप लगाया।
मोहम्मद आलम के छोटे भाई शानू ने पुलिस पर मामले की जांच में लापरवाही करने का आरोप लगाया।

पुलिस ने केवल गुमशुदगी दर्ज की
मृतक के छोटे भाई मोहम्मद शानू ने बताया, आलम 6 तारीख से गायब था। जब हम शिकायत करने गए तो हमारी थाने पर कोई सुनवाई नहीं हुई। केवल गुमशुदगी का मामला दर्ज कर यह बोला गया कि साइकिल लेकर भाग गया है, वापस आ जाएगा। जबकि साइकिल की चाभी सुनील और सुशील के घर पर मिली। हम लोगों ने दोनों पर हत्या का आरोप लगाया, लेकिन पुलिस ने सिर्फ पूछताछ कर उन दोनों को छोड़ दिया।

शानू ने कहा, आज 21 दिन बाद हमारे बड़े भाई का कंकाल जंगल पड़ा हुआ मिला। शव पर पड़े कपड़े जले हुए दिख रहे थे। देख कर लग रहा था कि जैसे पहले हत्या की गई हो, फिर पहचान मिटाने के लिए केमिकल से जलाया गया था।

खबरें और भी हैं...