पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अमेठी में निकाय चुनाव की आरक्षण सूची जारी:महिला के लिए आरक्षित होने से 3 साल से रहीं चेयरमैन चंद्रमा देवी खुश, मिठाई खिलाकर जताया हर्ष

अमेठी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेठी में नगर निकाय चुनाव को लेकर देर शाम आरक्षण सूची जारी हुई। सूची ने चुनावी पंडितों के गुणा गणित को फेल कर दिया। अमेठी नगर पंचायत सीट को लेकर पूरे जिले में चर्चाओं का बाजार गर्म था कि ये सीट इस बार बैकवर्ड के लिए आरक्षित होगी, लेकिन नहीं हुई।।

आरक्षण के बाद अमेठी नगर पंचायत सीट महिला के खाते में चली गई। जिला पंचायत अध्यक्ष और भाजपा नेता राजेश मसाला की पत्नी चंद्रमा देवी पिछले तीन पांच वर्षीय से यहां चैयरमैन हैं। इस बार भी रास्ता खुल गया है। आरक्षण की घोषणा होते ही राजेश मसाला समर्थकों में खुशी का माहौल छा गया और समर्थकों और करीबियों ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर बधाई दी।

पार्टी टिकट के लिए होगा घमासान
देर शाम जारी आरक्षण सूची के बाद कई प्रत्याशियों के चेहरे पर चिंता की लकीरें खिंच गईं। आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष हरिशंकर जायसवाल अभी तक अमेठी नगर पंचायत से प्रत्याशी थे, लेकिन आरक्षण सूची आने के बाद वो अपनी पत्नी रीना जायसवाल को चुनाव मैदान में उतारेंगे। कुछ और प्रत्याशी जो बैकवर्ड के इंतजार में थे, उनके सपने चकनाचूर हो गए।

आरक्षण सूची जारी होने के बाद सभी ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी जाहिर की।
आरक्षण सूची जारी होने के बाद सभी ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी जाहिर की।

अभी बसपा व कांग्रेस के तरफ से कोई नहीं प्रत्याशी
फिलहाल अब सबसे ज्यादा घमासान भाजपा के टिकट के लिये होगा। भाजपा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष विषुव मिश्रा समेत कई लोगों ने नगर पंचायत के किए आवेदन किया है। अब ये देखना दिलचस्प होगा कि क्या पिछली बार की तरह भाजपा चंद्रमा देवी को टिकट देती है या फिर किसी नए चेहरे को मैदान में उतारती है। अभी सपा बसपा और कांग्रेस की तरफ से कोई प्रत्याशी मैदान में नही दिख रहा है।

इस बार सूची आने के बाद ये हुआ है बदलाव
अमेठी के दो नगरपालिका और दो नगर पंचायत सीटों के लिए आरक्षण की सूची आते ही एक बार फिर सियासी गलियारे में हड़कंप मच गया। अमेठी नगर पंचायत पिछली बार सामान्य सीट थी तो इस बार महिला खाते में चली गई, जबकि मुसाफिरखाना अनारक्षित होने के बावजूद इस बार भी अनारक्षित हो गई। जायस नगर पालिका में थोड़ा बदलाव हुआ। अनुसूचित जाति की जगह अनुसूचित जाति महिला हो गई।

वहीं जिला मुख्यालय गौरीगंज की सीट में बदलाव हुआ और ये आरक्षित महिला से सामान्य सीट हो गई। अमेठी नगर पंचायत से चंद्रमा देवी नगर पंचायत अध्यक्ष थीं, जबकि मुसाफिरखाना से बृजेश अग्रहरि चैयरमैन थे। पहली बार नगर पालिका बनी गौरीगंज से राजपति चैयरमैन बनी थीं। वहीं जायस नगर पालिका से महेश सोनकर नगर पालिका अध्यक्ष थे।

खबरें और भी हैं...