पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %

अमेठी में मौनी महाराज की रसोइया की हत्या:बोले- भू-माफिया ने ससुर का अपहरण कर 5 बीघा जमीन अपने नाम कराई, महिला ने विरोध किया तो हत्या कर दी

अमेठी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महिला का नाम मीरा है। वह 16 साल से मौनी महाराज के यहां रसोइया का काम कर रही थी।

अमेठी में परमहंस आश्रम के पीठाधीश्वर मौनी महाराज की रसोइया मीरा की सोमवार सुबह धारदार हथियार से हमला कर हत्या कर दी गई। मौनी महाराज ने आरोप लगाया है कि यह हत्या जमीनी विवाद के कारण हुई है। यही नहीं उन्होंने कहा कि इस मामले में कई बार पुलिस और प्रशासन को सूचना दी गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। आखिरकार महिला की हत्या कर दी गई।

आश्रम से 500 मीटर की दूरी पर हुई हत्या
बता दें कि मामला गौरीगंज कोतवाली क्षेत्र सगरा बाबूगंज का है। मृतका के पति भास्कर द्विवेदी ने बताया कि आज सुबह आश्रम से 500 मीटर दूर किसी ने पत्नी के सिर पर पीछे से वार कर हत्या कर दी। पत्नी जब घर नही पहुंची तो उसके नंबर पर फोन किया, लेकिन फोन भी नहीं उठा। इस पर उसने मौनी महाराज के पास फोन किया तो उन्होंने कहा कि तुम्हारी पत्नी घर के लिए निकल गई है।

जिला अस्पताल में मौनी महाराज से बातचीत करती पुलिस।
जिला अस्पताल में मौनी महाराज से बातचीत करती पुलिस।

जमीनी विवाद में हुई हत्या
मौनी महाराज का आरोप है कि महिला की हत्या जमीनी विवाद के कारण हुई है। उन्होंने बताया कि पूर्व में महिला के ससुर का शातिर अपराधी उमाशंकर मिश्रा उर्फ बबलू ने अपहरण कर उनकी 5 बीघा जमीन अपने नाम करा ली थी। जिस पर वह निर्माण करा रहा था। इसी का विरोध महिला कर रही थी।

परिवार की दूसरी जमीन पर भी कब्जा करना चाहता था भू-माफिया
मौनी महाराज ने बताया कि अपराधी उमाशंकर परिवार की कुछ और जमीन पर कब्जा करना चाहता था। जबकि निडर मीरा इसमें अवरोध बन रही थी। चूंकि परिवार में वह जिम्मेदार थी। जिसकी वजह से वह अपराधियों के सामने भी डट कर खड़ी थी। अपराधियों का इस हत्या से साफ संदेश है कि या तो जमीन सौंप दो या फिर गांव छोड़ कर चले जाओ।

महिला के शव की जांच-पड़ताल करती पुलिस।
महिला के शव की जांच-पड़ताल करती पुलिस।

16 साल से मौनी महाराज का खाना बना रही थी महिला
मृतक महिला मीरा के 4 छोटे-छोटे बेटे हैं। जबकि एक बेटी है, जो कि सबसे बड़ी है। मृतका के पति भास्कर द्विवेदी के मुताबिक, एक बार मौनी महाराज को खाने में जहर दे दिया गया था। तब उस रसोइया को हटाकर उसकी पत्नी को रसोइया रख लिया गया। वह 16 सालों से मौनी महाराज का खाना बना रही है।

एसपी दिनेश सिंह ने घटनास्थल पर जांच-पड़ताल की।
एसपी दिनेश सिंह ने घटनास्थल पर जांच-पड़ताल की।

मामले की हो रही है जांच
एसपी दिनेश सिंह ने जिला अस्पताल पहुंचकर मौनी महाराज सहित परिजनों से मुलाकात की। एसपी ने बताया कि मौनी महाराज की देखभाल करने वाली उनकी शिष्या का आज सुबह करीब 6 बजे आश्रम से 500 मीटर की दूरी पर सड़क के किनारे शव मिला है। उसके शरीर पर चोट के निशान पाए गए हैं। परिजनों का कहना है कि उसकी हत्या की हुई है। उन्होंने कुछ लोगों के ऊपर संदेह जताया है। उनका पता लगाया जा रहा है।