पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आजादी के बाद अभी तक गांव की नहीं बन पाई:श्रमदान कर ग्रामीणों बनवा रहे सड़क, गांव में कुछ नहीं हुआ विकास

अमेठी तहसील2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश को आजाद हुए सात दशक बीत चुके हैं। देश डिजिटल इंडिया की तरफ बढ़ रहा है। पर, आज भी कुछ क्षेत्र ऐसे हैं,जहां आज भी विकास की किरण नहीं पहुंची है। ऐसा ही हाल ब्लॉक संग्रामपुर अंतर्गत ग्राम करनाईपुर के शिवपुर का हैं। जहां आजादी के सात दशक बीतने के बाद भी आज तक गांव तक पहुंचने के लिए सड़क नहीं बनी है, गांव में सड़क न होने के कारण ग्रामीणों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों के द्वारा चंदा लगाकर सड़क का निर्माण कराया जा रहा है।

आपको बताते चलें कि हम डिजिटल इंडिया की तरफ तो जा रहे हैं, लेकिन आज भी कुछ ऐसे गांव हैं। जहां जाने के लिए रास्ता नहीं है माना जाता है कि जहां सड़के ना हो वहां उस क्षेत्र का कभी विकास नहीं हो सकता है। ऐसे में ही संग्रामपुर क्षेत्र का करनाईपुर के शिवपुर गांव है। जहां पर आज तक सड़क नहीं बन पाई, जिसको लेकर ग्रामीणों ने एकजुट होकर सड़क बनवाने के लिए चंदा इकट्ठा किया और अपने श्रम लगाकर सड़क को बनवा रहे हैं।

सड़क बनवाने की अमेठी सांसद से की गई मांग
वही ग्रामीण अंबिका प्रसाद ने बताया कि सड़क की मांग को लेकर ग्राम प्रधान से लेकर अमेठी सांसद तक मांग की है, लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है। सड़क निर्माण को लेकर हम अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है, आजादी से लेकर अभी तक यहां पर सड़क नहीं बन पाई है। हम लोग इस सड़क को लेकर लगभग 20 साल से मांग कर रहे हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई इसलिए मजबूरन हम लोगों को चंदा लगाकर सड़क बनवा रहे हैं।

बरसात में बच्चों को स्कूल जाने में होती है दिक्कत
वही विवेक ने बताया कि आज तक हमारे गांव में सड़क का निर्माण नहीं हुआ है। बरसात में बच्चों को स्कूल जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, हमारे गांव से निकलने का मात्र एक रास्ता है और हमारे गांव के तीनों तरफ नदी हैं। वही ग्राम के दारा सिंह ने बताया कि हमारे गांव की हालत बहुत खराब है। यहां पर किसी तरह का कोई विकास नहीं हुआ है। सड़के उसी हिसाब से खराब है। बरसात के समय बहुत समस्या होती है।

वीडियो ने कहा- मामला संज्ञान में नहीं
हम लोगों ने प्रधान और अधिकारियों को कई बार मांग की, लेकिन कोई सुनने को तैयार नहीं है। वही इस बाबत वीडियो संग्रामपुर से बात की गई तो उन्होंने बताया कि यह मामला हमारी जानकारी में नहीं है। यह मीडिया के माध्यम से मामले की जानकारी मिली है, जिस पर हम ने ग्राम प्रधान से बात किया है। यह बॉर्डर का एरिया लगता है। जहां पर सड़क बनाने की बात कही जा रही है, इसकी हम जांच कराएंगे जिसके बाद जो भी करवाई है की जाएगी।