पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बच्चों का मिड डे मील हजम कर गए प्रिंसिपल:टाण्डा में MDM घोटाला, खुद को फंसता देख अस्थाई शिक्षक पर मढ़े आरोप, DM से हस्तक्षेप की मांग

टाण्डा (अम्बेडकरनगर)2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जयराम वर्मा बापू स्मारक इंटर कॉलेज नाऊसांडा के प्रधानाचार्य पर मिड डे मील में घोटाला करने का आरोप लगा है। जिलाधिकारी से बेसिक शिक्षा अधिकारी ने 14 जून को पत्र लिखकर प्रधानाचार्य के विरुद्ध कार्रवाई करने को जिला विद्यालय निरीक्षक से अनुरोध किया है।

प्रधानाचार्य पर आरोप है कि कई महीनों से प्रतिदिन 10-12 छात्रों को ही मध्यान्ह भोजन उपलब्ध कराया गया। जबकि प्रतिदिन कागज में लगभग 200-250 छात्रों को दिखाया गया। शिकायत के बाद बीएसए के निर्देश पर हुई जांच में आरोप सही पाए गए।

बीएसए की जांच में खुलासा

बीएसए की जांच में खुलासा हुआ कि 8 मार्च से 11 मार्च तक मात्र 47 छात्रों को भोजन खिलाया गया जबकि 752 छात्र दिखाकर 112.8 किग्रा. खाद्यान्न व कन्वर्जन कास्ट 5602 का गबन पकड़ा गया। बीएसए ने प्रधानाचार्य से दो बार स्पष्टीकरण मांगा।

रजिस्टर पर खुद लिखते थे बच्चों की संख्या

प्रधानाचार्य ने स्वयं के बचाव में अपने स्पष्टीकरण में बीएसए को लिखित में अवगत कराया कि MDM में हुई अनियमितता विद्यालय में कार्यरत एक अस्थायी शिक्षक मेहंदी हसन ने की है। जबकि जांच में प्रधानाचार्य स्वयं एमडीएम की व्यवस्था देखते पाए गए। और प्रतिदिन लाभान्वित छात्रों की संख्या भी खुद चढ़ाते थे।

शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष ने डीएम से की शिकायत

प्रधानाचार्य की अस्थायी शिक्षक को फंसाने की करतूत सामने आने के बाद माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष डॉ. विजय वर्मा ने बीएसए और डीएम को पत्र लिखकर वास्तविक स्थिति से अवगत कराते हुए प्रकरण में आरोपी पर कठोर कार्रवाई की मांग की। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने प्रधानाचार्य के स्पष्टीकरण के बाद प्रथम दृष्टया प्रधानाचार्य को ही दोषी मानते हुए उनके विरुद्ध विभागीय कार्रवाई के लिये जिला विद्यालय निरीक्षक को पत्र लिखा।