पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टांडा का माफिया खान मुबारक की बहन-भांजी गिरफ्तार:चार साल से जेल में बंद है खान मुबारक तो बहन-भांजी गैंग चलाने लगी

टांडा (अंबेडकरनगर)एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पीके भट‌्ठा मालिक से लूट खान मुबारक के गैंग ने किया था। गुरुवार को खान मुबारक की बहन और भांजी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। खान मुबारक चार साल से जेल में बंद है इसके बाद भी उसका गैंग अपराध की दुनिया में सक्रिय है। गैंग को इसकी बहन रज्जो और भांजी मरियम गैंग को चलाने लगी थी। पुलिस ने दोनों को जेल भेज दिया।

21 अप्रैल को बाइक सवार तीन बदमाश पीके भट्ठा पर पहुंचे। भट्‌ठा मालिक मोहम्मद उमर से ईंट खरीदने की बात करने के लिए आफिस में गए। इसके बाद मोहम्मद से मारपीटकर 80 हजार रुपये नगद लेकर हवाई फायरिंग करते हुए फरार हो गए। इसके बाद पुलिस अब मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। इसके पहले 13 आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। सभी खान मोहम्मद के गैंग के सदस्य बताए जा रहे हैं।

गैंग के सदस्यों को मदद पहुंचाती थी रज्जो और मरियम

टांडा कोतवाली प्रभारी निरीक्षक विजेंद्र शर्मा ने बताया कि पीके ईंट भट्ठा लूटकांड की विवेचना में साक्ष्य सामने आया कि जेल भेजे गए आरोपियों के बयान से पता चला कि माफिया सरगना की बहन और भांजी लूट, डकैती और फिरौती से प्राप्त रुपयों में से गैंग के सदस्यों को ग्राहक सेवा केंद्रों, नगद, पेटीएम और गूगल पे के माध्यम से गैंग के सदस्यों को मदद पहुंचाती थी।

चार साल से जेल में बंद खान मुबारक पर 39 मुकदमा है

खान मुबारक पर 39 मुकदमा दर्ज है। जिसमें 5 हत्या, 1 बलवा, 4 मारपीट, 7 गैंगस्टर, 9 फिरौती, चार अर्म्स ऐक्ट और हत्या के प्रयास में 9 मुकदमा है। खान मुबारक चार साल से जेल में बंद चल रहा है।

चार से जेल में बंद है खान मोहम्मद, बाहर सक्रिय है गैंग

खान मुबारक चार साल से जेल में बंद है लेकिन, गैंग बाहर सक्रिय है। वह लूट, फिरौती और दुकानदारों से वसूली करता है। इसकी बहन और भांजी इस काम में मदद करती थी। भाई के नाम से व्यापारियों से पैसे वसूलती थी और गैंग के सदस्यों को भी देती थी।

खबरें और भी हैं...