पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुठभेड़ में एक अपराधी की मौत, 2 गिरफ्तार:स्वाट टीम ने पीछा किया तो 40 राउंड गोलियां बरसाईं, गाड़ी पलटने पर पकड़े गए

अंबेडकरनगर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अंबेडकरनगर में लूट की सूचना पर बदमाशों का पीछा करते हुए मालीपुर में पंहुची स्वाट टीम पर बदमाशों ने ताबड़तोड़ 40 राउंड फायरिंग झोंक दी। - Money Bhaskar
अंबेडकरनगर में लूट की सूचना पर बदमाशों का पीछा करते हुए मालीपुर में पंहुची स्वाट टीम पर बदमाशों ने ताबड़तोड़ 40 राउंड फायरिंग झोंक दी।

अंबेडकरनगर में लूट की सूचना पर बदमाशों का पीछा करते हुए मालीपुर में पंहुची स्वाट टीम पर बदमाशों ने ताबड़तोड़ 40 राउंड फायरिंग झोंक दी। गनीमत रही पुलिस वाले बाल-बाल बच गए, नहीं तो कानपुर के बिकरुकाण्ड जैसी घटना भी हो सकती थी।

आलम ये रहा है 5 मिनट की ताबड़तोड़ फायरिंग से बोलेरो में बैठे सिपाही सहम गए। कुछ देर बाद संभलकर जब तक सिपाहियों ने मोर्चा संभाला, तब तक अपराधियों की बोलेरो अनियंत्रित होकर नहर में पलट गई। तीन बदमाशों को पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद दबोच लिया।

एसपी आलोक प्रियदर्शी के मुताबिक, एक बदमाश घायल अवस्था में था। इलाज के लिए लखनऊ ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। हालांकि मौत गोली लगने से हुई या गाड़ी पलटने से ये स्पष्ट नहीं है। जबकि दो बदमाशों से पूछताछ की जा रही है।

20 घन्टे तक घटना से अंजान बनी रही पुलिस

सोमवार भोर में हुई लूट व मुठभेड़ की घटना को पुलिस 20 घंटे तक छिपाती रही। हालांकि देर रात मामले में पुलिस ने खुलासा करते हुए बताया कि शहजादपुर, सूरापुर और दर्शन नगर में जौनपुर के अपराधी लूट की वारदात को अंजाम दे रहे थे। सूचना पर स्वाट टीम के अलावा कई थानों की फोर्स ने लुटेरों को पीछा शुरू किया। बाइक सवार अपराधी शाह आलम को दबोच लिया। उसकी निशादेही पर स्वाट टीम ने बोलेरो सवार बदमाश का पीछा शुरू किया।

पुलिस ने बरामद की बाइक।
पुलिस ने बरामद की बाइक।

4 लाख किराने का सामान बरामद

मालीपुर थाना इलाके के सुल्तानपुर बार्डर के पास अपराधियों से मुठभेड़ हो गई, जिसमें कई राउंड गोली चलने के बाद जौनपुर के जिले के रहने वाले अपराधी मिठन उर्फ अजय निवासी मोमिनापुर मुंडेरा ख्वाजा सराय जौनपुर, शाह आलम उर्फ मोनू थाना खुटहन जौनपुर और भाईराम निवासी डोमापर थाना गोसाईगंज जौनपुर को गिरफ्तार कर लिया गया। इनके पास से बोलेरो, एक बाइक करीब 4 लाख का किराना का सामान व कई मोबाइल बरामद हुआ है।

एक बदमाश की इलाज के दौरान मौत

फायरिंग के दौरान बदमाशो की बोलेरो नहर में पलट गई। बोलेरो पलटने के बाद उसमें सवार कुछ बदमाश फरार होने में कामयाब रहे। एसपी ने बताया कि पुलिस टीम ने पलटी हुई बोलेरो से 3 बदमाशो को पकड़ने में कामयाब रही, जिसमे से एक गम्भीर रूप से घायल था, उसे अस्पताल लाया गया, जंहा से उसे लखनऊ रेफर कर दिया गया। लखनऊ में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। हालांकि मौत का कारण अभी स्पष्ट नहीं है।

घेराबंदी का अपराधियों को पकड़ा
लूट के बाद बदमाश मालीपुर थाना इलाके से होकर सुल्तानपुर की तरफ भाग रहे थे। कंट्रोलरूम की सूचना पर स्वाट टीम सक्रिय हुई और बदमाशों को पकड़ने के लिए घेराबंदी शुरू किया। स्वाट टीम द्वारा घेराबन्दी करने पर बदमाशों ने स्वाट टीम पर अचानक से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दिया, जिसके बाद पुलिसकर्मियों को भी पसीने छूट गए। पुलिसकर्मी खुद किस्मत रहे कि, उन्हें किसी गोली ने अपना निशाना नही बनाया।

बोलेरो पलटने से पकड़ में आए लुटेरे

फायरिंग के बीच ही बदमाशो की बोलेरो अनियंत्रित होकर पलट गई, जिसके बाद उसमें से कुछ बदमाश फरार होने में कामयाब रहे। जबकि पुलिस ने उनमें से तीन को पकड़ने में कामयाब रही। पकड़े गए बदमाशो में एक 50 हजार का इनामी भी बताया जा रहा है। हालांकि इस पूरे मामले में जिस तरह पूरे दिन पुलिस ने चुप्पी साध रखी थी, उससे कई सवाल भी खड़े हो रहे है सोशल मीडिया पर भी इसको लेकर तरह तरह की चर्चा आम रही।

कटघरे में खाकी, इन सवालों के जबाब नहीं पास

बदमाशों और पुलिस में मुठभेड़ के बाद कई ऐसे सवाल है जोकि पुलिस को कटघरे में खड़े कर रहे हैं। ये वह सवाल है जिनका जबाब लोग पुलिस से चाह रहे है।

  • पुलिस ने घटना के 20 घन्टे बाद क्यों सामने आई, जबकि घटना के बाद पुलिस को ब्रीफिंग करनी थी।
  • घायल बदमाश को अकबरपुर थाना के मरैला चौकी इंचार्ज द्वारा भर्ती क्यों कराया गया, जबकि घटना मालीपुर इलाके में हुई।
  • घटना के समय स्वाट टीम थी, तो फिर चौकी इंचार्ज कैसे वंहा पंहुच गए। इसमें होना तो ये चाहिए था, कि घायल को स्वाट टीम के सदस्य या फिर मालीपुर पुलिस लेकर अस्पताल जाती।
खबरें और भी हैं...