पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अंबेडरनगर के 92 गांवों में पानी की टंकी बनेंगी:15 हजार से अधिक आबादी को मिलेगा शुद्ध पेयजल, गांवों में शुरू हुआ काम

अंबेडरकनगर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अंबेडकरनगर के 92 गांवों में पानी की टंकी बनेगी। - Money Bhaskar
अंबेडकरनगर के 92 गांवों में पानी की टंकी बनेगी।

अंबेडकरनगर में 92 ग्राम पंचायतों में जीवन मिशन योजना के तहत घर-घर शुद्ध जल पहुंचाने की योजना गति पकड़ रही है। सरकार द्वारा इसके लिए पांच करोड़ की लागत से ओवरहेड टैंक और ट्यूबवेल की स्थापना की जाएगी। साथ ही पाइप लाइन बिछाकर घर-घर तक पानी पहुंचाया जाएगा।

88 ग्राम पंचायतों में इस मिशन पर काम शुरू हो गया है जबकि, चार ग्राम पंचायतों में और बजट आ गया है। इससे करीब 15 हजार आबादी को शुद्ध पेयजल मिलेगा। चार ग्राम पंचायतों में काम जुलाई महीने में शुरू होने की उम्मीद है।

ग्राम पंचायतों में मिलेगा घर-घर पानी
नगरीय क्षेत्रों में अमृत योजना का संचालन शुरू हुआ, जिसके लिए ओवरहेड टैंक, ट्यूबवेल की स्थापना के साथ ही पाइप लाइन बिछाकर घर-घर शुद्ध पेयजल पहुंचाए जाने की योजना है। कई इलाकों में पाइप लाइन बिछाकर काम शुरू होने जा रहा है हालांकि, अभी कई नगरीय क्षेत्रों में अमृत योजना का समुचित लाभ आम जनता को मिल भी रहा है।

इसी के तर्ज पर ग्रामीण क्षेत्रों में भी लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए जल जीवन मिशन योजना का संचालन केंद्र सरकार की ओर से किया गया है। इसमें ट्यूबवेल और ओवरहेड टैंक की स्थापना कर पाइप लाइन बिछाकर घर-घर कनेक्शन दिया जाना जाएगा।

2023 तक पूरा हो जाएगा काम
जीवन मिशन योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोगों को मिले। इसके लिए मौजूदा समय में 88 ग्राम पंचायतों में काम चल रहा है। इस काम में करीब 120 करोड़ रुपया खर्च होगा। इसमें 34 ट्यूबवेल, 34 ओवरहेड टैंक की स्थापना की जा रही है। पाइप लाइन बिछाने के बाद जुलाई 2023 में संबंधित गांवों में पानी की आपूर्ति प्रारंभ हो जाएगी।

चार ग्राम पंचायतों को और मिली मंजूरी
जल निगम के अधिशासी अभियंता वकार हुसैन ने बताया कि शासन ने 5 करोड़ की लागत से 88 ग्राम पंचायतों के बाद चार और ग्राम पंचायतों में योजना का लाभ ग्रामीणों को दिए जाने को मंजूरी की है। इन ग्राम पंचायतों में मुकुंदपुर, अलनपुर, मानसपुर और शरीफपुर में 2 डीपीआर की मंजूरी प्रदान हुई है। इन ग्राम पंचायतों में काम जुलाई के अंतिम सप्ताह में शुरू हो जाएगा।