पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %

अंबेडकरनगर...झाड़ियों में फेंकी मिलीं सरकारी दवाएं:दिवाली में PHC में कराई जा रही थी सफाई, झाड़ियों में मिलीं दवाएं और इंजेक्शन

अंबेडकरनगर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अंबेडकरनगर में झाड़ियों में फेंकी मिलीं सरकारी दवाएं। - Money Bhaskar
अंबेडकरनगर में झाड़ियों में फेंकी मिलीं सरकारी दवाएं।

अंबेडकरनगर जिले में स्वास्थ्य विभाग आम लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने का लाख दावा कर ले, लेकिन धरातल पर कुछ अलग ही तस्वीर बयां कर रही है। मरीज अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही से प्राइवेट मेडिकल स्टोरों से दवा खरीदने को मजबूर हैं। वहीं अस्पताल प्रबंधन जीवन रक्षक सहित आवश्यक दवा कहीं झाड़ी में तो कहीं शौचालय की टंकी में फेंकने में व्यस्त है।

बेवाना पीएचसी का मामला

ताजा मामला बेवाना पीएचसी (प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र) का है। यंहा मरीजों को देने के लिए आई हजारों रुपये की जीवन रक्षक दवाएं झड़ियों में साफ-सफाई के दौरान मिली हैं। पीएचसी में साफ-सफाई के दौरान कैंपस के अंदर झड़ियों में हजारों रुपए की दवा और इंजेक्शन मिला। बताया जा रहा है कि ये दवाएं और इंजेक्शन बच्चों के इलाज और महिलाओं की डिलीवरी के समय उपयोग की जाती हैं। दवाओं को एक्सपायरी डेट से पहले ही फेंक दिया गया।

ग्राम प्रधान करा रहे थे सफाई

बेवाना के ग्राम प्रधान संतोष सुमन ने बताया कि पीएचसी कैंपस में काफी गंदगी और झाड़ी उग आई थी, जिसकी सफाई कराई जा रही थी। इसी दौरान एक गड्ढे में मजदूरों को हजारों रुपए की जीवन रक्षक दवाई मिलीं हैं। मामले की जानकारी अस्पताल प्रशासन को दी गई है। उन्होंने कहा कि जो दवाएं मरीजों को मिलनी चाहिए, वह झड़ियों में मिल रही हैं। इसकी जांच कराई जानी चाहिए।

वहीं बेवाना पीएचसी के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. इंद्रेश ने बताया कि दवा मिलने की सूचना मिलते ही फार्मासिस्ट से स्पष्टीकरण मांगा गया है। पूरे मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दे दी गई है। जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...