पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

NH 232 पर लगे हाईमास्क लाइटें बनी शोपीस:अंबेडकरनगर में तीन चौराहों पर छाया रहता है अंधेरा

अंबेडकरनगर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हाईमास्क लाइट बने शोपीस - Money Bhaskar
हाईमास्क लाइट बने शोपीस

अंबेडकरनगर में रायबरेली से टांडा को जाने वाली राष्ट्रीय राजमार्ग 232 पर अकबरपुर तहसील क्षेत्र के दोस्तपुर शहजादपुर चौराहे व भिखारीपुर बाईपास पर लाखों रुपये की लागत से लगी हाईमास्क शोपीस बन गई है। लाइट खराब होने के कारण चौराहे पर अंधेरा रहता है और आए दिन कोई न कोई दुर्घटना होती है। कई बार की शिकायतों के बाद लाइट सही नहीं कराई गई।
6 महीनें से खराब है लाइटें

टांडा से अकबरपुर होकर रायबरेली को जाने के लिए 2017 में राष्ट्रीय राजमार्ग 232 का निर्माण कराया गया था। रोड पर रात में अंधेरा न हो और आने जाने वालों को दिक्कत न हो इसके लिए अकबरपुर दोस्तपुर चौराहा और भिखारीपुर बाईपास पर लाखों रुपए की लागत से लाइट लगाई गई थी। लेकिन लाइट लगने के कुछ ही दिनों बाद अकबरपुर दोस्तपुर चौराहे पर लगी दो लाइट और भिखारीपुर तिराहे पर लगी एक लाइट खराब हो गई है। लाइट खराब हो जाने के कारण आने जाने वाले राहगीरों को बहुत समस्या होती है। वही आये दिन दोनों जगहों पर दुर्घटना होती है।

NH के अधिकारियों को दिया गया है पत्र
स्थानीय निवासी राजेश यादव, राकेश कुमार आदि का कहना है कि लाइट खराब होने की शिकायत कई बार किया गया, लेकिन ठीक नही कराया जा रहा है। इस बाबत अकबरपुर चेयरमैन सरिता गुप्ता ने बताया कि लाइट सही कराने के लिए NH के अधिकारियों को पत्र लिखा गया है।