पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

100 ग्राम सभाओं में बनेंगे 'अमृत सरोवर':अंबेडकरनगर में एक एकड़ जमीन में बनाए जाएंगे सभी सरोवर, ग्राम वासियों पर होगी देखभाल की जिम्मेदारी

अंबेडकरनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

'आजादी का अमृत महोत्सव' के तहत सरकार ने प्रत्येक ग्राम पंचायत में अमृत सरोवर बनाने की घोषणा की गई थी। अंबेडकरनगर में इन सरोवरों को बनाने का काम शुरू कर दिया है। 100 ग्राम पंचायतों में अमृत सरोवर के लिए जगह चिन्हित कर काम की शुरुआत कर दी गई है। बारिश से पहले उसे तैयार करने की योजना है। अमृत सरोवर से जहां, बारिश के पानी को इकट्ठा किया जाएगा तो वहीं गर्मी में इसमें पानी रहे, इसका भी उपाय किया जा रहा है। साथ ही इसका उद्देश्य गांवों में एक रमणीक स्थल तैयार करना है।

एक एकड़ में बनेगा सरोवर
अमृत सरोवर एक एकड़ जमीन में बनेगा। अमृत सरोवरों का चिह्नांकन एवं उनके प्रगति की रिपोर्टिंग केंद्र सरकार के एमआईएस पोर्टल पर की जाएगी। ग्राम पंचायतों, क्षेत्र पंचायतों व जिला पंचायत को इसे केंद्रीय और राज्य वित्त आयोग समेत मनरेगा की धनराशि से बनाना है। जिला पंचायत को 5 और ब्लॉकों को तीन-तीन अमृत सरोवर बनाना होगा। इसके रख-रखाव की जिम्मेदारी ग्राम पंचायत की होगी।

तालाब किनारे बैठने को लगेंगे बेंच
अमृत सरोवर के तट पर विभिन्न तरीके के पेड़-पौधे लगेंगे, जो लोगों को फल के साथ ही छांव भी देंगे। अमृत सरोवर के पास जो पेड़ लगेंगे, उसमें नीम, पीपल, कटहल, जामुन, बरगद, सहजन, पाकड़, महुआ आदि के पौधे लगाए जाएंगे। इनके रख-रखाव, सिंचाई की व्यवस्था में फेंसिंग की जाएगी। निर्माण, विकास व रख-रखाव ग्राम वासियों विशेषकर स्वयं सहायता समूह द्वारा किया जाएगा।

वहीं अमृत सरोवरों के तटबंध पर वॉकिंग पथ विकसित किया जाएगा एवं उचित स्थान पर बेंच की भी स्थापना की जाएगी। ग्रामीण इस पर सुबह-शाम सैर कर सकेंगे। इसकी लंबाई व उचित गहराई तक सीढ़ियों का निर्माण किया जाएगा। तटबंध पर तिरंगा झंडा रोहण की व्यवस्था होगी। राष्ट्रीय पर्व पर ग्रामीण यहां झंडा रोहण करेंगे।

खबरें और भी हैं...