पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59525.25-0.95 %
  • NIFTY17792.3-0.81 %
  • GOLD(MCX 10 GM)480700.26 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633193.1 %

BSP MLA रामअचल और लालजी हुए सपाई:अंबेडकरनगर में अखिलेश का CM पर तंज, बोले- फतेहगढ़ जेल में कैदियों ने जेलर को ठोंक दिया

अंबेडकरनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अंबेडकरनगर के बसपा के दो दिग्गज नेता राम अचल राजभर और लालजी वर्मा ने आज अखिलेश यादव की मौजूदगी में सपा जॉइन कर लिया। जिला मुख्यालय स्थित भानमती पीजी कॉलेज में जनादेश रैली में अखिलेश यादव ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री हमेशा ठोंको ठोंको करते हैं। आज फतेहगढ़ जेल में कैदियों ने डिप्टी जेलर को ठोंक दिया है। दरअसल, फर्रुखाबाद की फतेहगढ़ जेल में आज कैदियों ने एक बंदी की मौत पर जमकर उपद्रव किया है।

अखिलेश यादव ने कहा कि अंबेडकरनगर से रामअचल राजभर और लालजी वर्मा के सपा में आने के बाद यहां और आसपास के जिलों में भाजपा अब बचने वाली नहीं है। यहां जो जनसैलाब दिख रहा है वह इतिहास रचने वाला है। अखिलेश ने कहा कि अभी कुछ दिन पहले मैंने कोशिश की थी कि भीमराव आंबेडकर और लोहिया की विचारधारा एक हो जाए लेकिन उस कोशिश में हम लोग सफल नहीं हुए। अब दूसरे दलों को छोड़ कर सपा में लोग आ रहे हैं। मैं बसपा से आये नेताओं से कहना चाहता हूं। जो सपना आपने देखा था उसे पूरा करने के लिए हम आपको सम्मान देंगे।

रैली में समर्थकों का अभिवादन स्वीकार करते सपा अध्यक्ष।
रैली में समर्थकों का अभिवादन स्वीकार करते सपा अध्यक्ष।

भाजपा पर बोला हमला

  • किसानों के मुद्दे पर अखिलेश यादव ने कहा भाजपा ने अन्याय बढ़ाया है। किसानों को धोखा देने का काम किया है। किसान जो हमारा पेट भरता है। उसके साथ धोखा और अन्याय किसी ने किया है तो भाजपा ने किया है। किसान को गाड़ी से कुचल दिया।
  • महंगाई के मुद्दे पर अखिलेश बोले, जिस तरह से महंगाई बढ़ रही है। उससे क्या किसानों को राहत मिलेगी। गांव गांव सिलेंडर बांटे जा रहे थे। अब उज्ज्वला योजना बुझला योजना बन गई है। हमारे मुख्यमंत्री महंगाई कम करने के लिए सिलेंडर का रंग बदल दे या नाम बदल देंगे। पेट्रोल सौ के पार हो गया। अब मोटरसाइकिल भी नहीं चल पायेगी। खाद महंगी हो गई है।
  • उद्घाटन और शिलान्यास के मुद्दे पर अखिलेश यादव ने कहा कि ये सरकार शिलान्यास और उद्घाटन कर रही है। यह सब काम सपा में हुए हैं। अब भाजपा उसका फीता काट रही है। अब सुनने में आ रहा है कि पूर्वांचल एक्सप्रेस का उद्घाटन होने जा रहा है। यह भी सपा ने दिया है।
  • कानून व्यवस्था के मुद्दे पर बोले, आज सबसे ज्यादा कस्टोडियल डेथ यूपी में हो रही है। जहां पुलिस के पीटने से मौत हुई है। गृह राज्य मंत्री के बेटे ने किसानों पर गाड़ी चढ़ा दी। मुख्यमंत्री दिन भर ठोंकों ठोंको बोलते हैं आज फतेहगढ़ जेल में कैदियों ने जेलर को ठोंक दिया।
अखिलेश यादव की जनादेश रैली में उमड़ी भीड़।
अखिलेश यादव की जनादेश रैली में उमड़ी भीड़।

मंच पर रामअचल राजभर हुए भावुक
मंच पर राम अचल राजभर बसपा में अपने सघर्षों को याद कर भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि पार्टी के लिए मैं जेल चला गया। पत्नी की मृत्यु का शोक नहीं मना पाया, भाई का एक्सीडेंट हुआ तो भी नहीं जा पाया, बेटी बीमार थी, लेकिन मिशन को आगे बढ़ाने के लिए महाराष्ट्र भेज दिया गया। इसके बावजूद मुझे पार्टी से निकाल दिया गया। कई बार प्रयास किया लेकिन मेरी बात नहीं सुनी गई।

अखिलेश ने ​अंबेडकरनगर से साधा पूर्वांचल
पूर्वांचल में पिछड़ों और अति पिछड़ों की संख्या बहुत ज्यादा है। इनमें कुर्मी व राजभर समाज का अहम स्थान है। कुर्मी बिरादरी के लालजी वर्मा पिछड़ों के रसूखदार नेता हैं। वही, राम अचल राजभर भी पिछड़ी जातियां के बड़े कद वाले नेता माने जाते हैं। कहा जा रहा है कि ओमप्रकाश राजभर के बाद इन पिछड़ी जाति के दो नेताओं के आने से सपा पूर्वांचल में और मजबूत हो जाएगी।

मंच पर सपा नेताओं के साथ बैठे अखिलेश यादव।
मंच पर सपा नेताओं के साथ बैठे अखिलेश यादव।

सियासी दलों के लिए क्यों पूर्वांचल है इतना अहम?
दरअसल, यूपी के पूर्वांचल में 28 जिलों की 164 विधानसभा सीटें है। इसे 2017 से पहले तक समाजवादी पार्टी का गढ़ माना जाता था। जिस भी पार्टी ने यहां बड़ी बढ़त बनाई, सत्ता की कुर्सी पर बैठी। 2017 में भाजपा को पूर्वांचल की 28 जिलों की 164 विधानसभा सीट में से 115 सीट मिली थी। जोकि भाजपा का अब तक का रिकॉर्ड है।

भाजपा इस रिकॉर्ड को कायम रखना चाहती है। तो वही समाजवादी पार्टी 2012 के करिश्मा को दोहराना चाहती है। 2012 के विधानसभा चुनाव में सपा को 102 सीटें पूर्वांचल से मिली थी,और अखिलेश सीएम बने थे। सपा इस बार छोटे दलों और नेताओं को जोड़ कर सियासी समीकरण भी साधने में जुटी है ताकि इस बार भाजपा को पूर्वांचल में मात दे सकें।

खबरें और भी हैं...