पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Aligarh
  • The Friend Murdered By Taking It To The Kiln, Threw The Body There, The Police Was Searching For Two Days, The Matter Is Of Marhauli, The Village Of Former CM Kalyan Singh

मोबाइल न देने पर नाबालिग की गला दबाकर हत्या:दोस्त ने भट्‌ठे में ले जाकर की हत्या, वहीं फेंक दिया शव, दो दिन से पुलिस कर रही थी तलाश, पूर्व सीएम कल्याण सिंह के गांव मढ़ौली का है मामला

अलीगढ़10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुमित का फाइल फोटो - Money Bhaskar
सुमित का फाइल फोटो

अलीगढ़ के अतरौली थाना क्षेत्र के गांव मढ़ौली में मोबाइल न दिखाने से नाराज एक युवक ने नाबालिग की गला दबाकर हत्या कर दी। दो दिन पहले शुक्रवार को वह उसे लेकर गांव के एक ईंट भट्‌ठे पर गया था, जहां उसने गला दबाकर नाबालिक को मार दिया था और शव को भट्‌ठे के नजदीक एक गढ्‌ढे में फेंक दिया था। घटना के बाद से पुलिस मृतक की तलाश कर रही थी। जिसके बाद सोमवार को शव मिलने पर मामले का खुलासा हुआ, जिसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

मोबाइल न दिखाने से नाराज था दोस्त

गांव मढ़ौली के राजाराम सिंह प्राइवेट नौकरी करते हैं। उनका 17 वर्षीय पुत्र सुमित सिंह 11वीं का छात्र है। कुछ दिन पहले उन्होंने सुमित को नया मोबाइल दिलाया था। जिसके बाद वह अपना मोबाइल लेकर गांव में दोस्तों के साथ घूम रहा था। इस दौरान गांव के ही उसके मित्र 20 वर्षीय विनोद पुत्र चंद्रपाल ने उसका मोबाइल मांगा था, लेकिन सुमित ने मोबाइल दिखाने से मना कर दिया था। इसके बाद विनोद नाराज हो गया था। शुक्रवार को विनोद सुमित को अपने साथ गांव के भट्‌ठे पर लेकर गया और वहां उसकी हत्या कर दी।

शव सड़ने से हुआ घटना का खुलासा

आरोपी विनोद ने शुक्रवार को सुमित की हत्या कर दी थी। इसके बाद लाश को एक गढ्‌ढे में फेंक दिया था, जिसके कारण यह लोगों की नजर में नहीं आ रही थी। लेकिन दो दिन तक शव सड़ने के कारण दुर्गंध चारो ओर फैल गई, जिसके बाद लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी, मौके पर पुलिस ने शव बरामद किया, जिसके बाद परिजनों ने सुमित की शिनाख्त की।

नाराज ग्रामीणों ने लगाया सड़क पर जाम

यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह के पैतृक गांव मढ़ौली में उनके घर से कुछ दूर ही मृतक और आरोपी का मकान है। पूर्व सीएम का अस्थि कलश भी अभी गांव में ही रखा हुआ है और उनकी तेरहवीं को लेकर चप्पे चप्पे पर पुलिस प्रशासन की निगरानी है। इसके बाद भी यह घटना हो गई और पुलिस दो दिन तक इसका पता नहीं लगा पाई। ऐसे में नाराज ग्रामीणों ने सड़क पर जाम लगा दिया, जिसके बाद पुलिस ने सभी को शांत कराकर रास्ता खुलवाया और आश्वासन दिया कि आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

बेसुध हुई मां पुलिस के पैर पकड़ की न्याय की मांग

बेटे की मौत की खबर सुनकर सुमित की मां बेसुध हो गई। उसका रो रो कर बुरा हाल हो गया और उसने पुलिस कर्मियों के पैरों में गिरकर न्याय की मांग की। उसका कहना था कि उसका बेटा अभी छोटा था और काफी सीधा था, फिर भी उसकी बेरहमी से हत्या कर दी। आरोपी को सख्त से सख्त सजा दी जाए। जिसके बाद अधिकारियों ने उसे आश्वासन दिया कि उसे न्याय जरूर मिलेगा।

आरोपी ने कबूला अपना अपराध

एसपी ग्रामीण शुभम पटेल ने बताया कि आखिरी बार सुमित आरोपी विनोद के साथ ही देखा गया था। जिसके कारण सभी को उस पर शक हो रहा था। लेकिन हत्या होने के बारे में किसी ने नहीं सोचा था। एसपी ने बताया कि जब पुलिस ने आरोपी से सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपना अपराध कबूल कर दिया, जिसके बाद पुलिस ने हत्या की धाराओ में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...