पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मायावती ने की अलीगढ़ मामले की जांच की मांग:27 सितंबर को 4 साल की बच्ची का शव खेत में मिला था, परिजनों ने जताई दुष्कर्म की आशंका

अलीगढ़9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने सरकार से पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने और मामले की जांच की मांग की है। - Money Bhaskar
बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने सरकार से पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने और मामले की जांच की मांग की है।

अलीगढ़ जिले के गोंडा इलाके में सोमवार को एक मासूम बच्ची का शव उसके घर से 50 मीटर की दूरी पर धान के खेत में पड़ा हुआ मिला। बच्ची रविवार शाम से लापता थी। मृतक बच्ची के परिजनों ने पैर रस्सी से बंधे होने के कारण दुष्कर्म की आशंका जताई है। बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने सरकार से पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने और मामले की जांच की मांग की है।

27 सितंबर को खेत में मिला था बच्ची का शव

अलीगढ़ के गोंडा थाना क्षेत्र के गांव नगला बिरखू में मजदूरी करने वाले परिवार की चार साल की बच्ची का शव सोमवार दोपहर को गांव के ही एक खेत में मिला था। बच्ची का शव खेत में भरे पानी में उतरा रहा था। घटना की जानकारी मिलने पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स पहुंची थी और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा था। इस दौरान ग्रामीणों ने अपनी नाराजगी जाहिर की थी। कुछ अराजक तत्वों ने पुलिस की गाड़ी पर पत्थर भी फेंके थे। जिसके बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया था।

बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने सरकार से पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने और मामले की जांच की मांग की है।
बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने सरकार से पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने और मामले की जांच की मांग की है।

पानी में दम घुटने से हुई मौत, दुष्कर्म की आशंका

चार साल की बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार पानी में डूबने से उसकी मौत हुई है। सूत्रों के अनुसार पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में शरीर में चोंट के निशान होने की भी पुष्टि हुई है। इसके साथ ही बच्ची के साथ दुष्कर्म की आशंका भी जताई जा रही है। जिसके चलते बच्ची का शव मिलने के बाद स्लाइड बनवाई गई थी। इसकी रिपोर्ट आने के बाद ही दुष्कर्म की पुष्टि की जा सकेगी।

अपराधी न पकड़े गए तो आंदोलन होगा

बसपा के जिलाध्यक्ष रतनदीप सिंह का कहना है कि भाजपा शासन में अपराधी बेलगाम होकर घूम रहे हैं। कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। इसके साथ ही दलितों और मासूमों पर अपराध बढ़ गए हैं। उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार को अगर जल्दी ही न्याय न मिला को बहुजन समाज पार्टी आंदोलन करने के लिए मजबूर हो जाएगी।

4 टीमें कर रही हैं जांच

एसपी ग्रामीण शुभम पटेल ने बताया कि घटना के खुलासे के लिए पुलिस की चार टीमें गठित की गई हैं, जो हर एक पहलू की गहनता से जांच कर रही हैं। उन्होंने बताया कि अपराधी ज्यादा समय तक पुलिस से बच नहीं सकेंगे। जल्दी ही घटना का खुलासा करके दोषियों को सजा दिलाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...