पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस की 10 टीमें नहीं ढूंढ पा रही अपनी लैपर्ड:अलीगढ़ के क्वार्सी थाना क्षेत्र से 7 अक्टूबर को चोरी हो गई थी पुलिस की लैपर्ड, चार दिन बाद भी चोर पुलिस की गिरफ्त से हैं दूर

अलीगढ़7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाना क्वार्सी - Money Bhaskar
थाना क्वार्सी

आमजनों को परेशान करने वाले अलीगढ़ के वाहन चोरों ने अलीगढ़ पुलिस की नाक में भी दम कर रखा है। हालत यह है कि चार दिन पहले अलीगढ़ के क्वार्सी थाना क्षेत्र से चोरी हुई पुलिस की लैपर्ड बाइक चार दिन बाद भी नहीं मिल सकती है। पुलिस ने अपने वाहन को तलाशने के लिए 10 टीमें लगा रखी हैं, लेकिन लगातार प्रयास करने के बाद भी पुलिस के हाथ अभी तक सफलता नहीं लग सकी है। वहीं पुलिस अधिकारियों का दावा है कि जल्दी ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होगा।

7 अक्टूबर को चोरी हुई थी लैपर्ड

अलीगढ़ के क्वार्सी चौराहे पर 7 अक्टूबर की देर शाम पुलिस की लैपर्ड बाइक चोरी हो गई थी। लैपर्ड में हेड कांस्टेबल राम नरेश और होमगार्ड किशनपाल की ड्यूटी थी। किशनपाल अपनी 8 घंटे की ड्यूटी पूरी करने के बाद शाम 7 बजे घर चला गया था, जिसके बाद देर रात हेडकांस्टेबल शाम को क्वार्सी चौराहे पर लगा जाम खुलवाने में यातायात पुलिस कर्मियों की मदद कर रहा था। इसी दौरान चौराहे से चोर पुलिस का लैपर्ड वाहन चोरी कर ले गए थे। जिसके बाद पुलिस ने सारे शहर में नाकाबंदी कर दी थी, लेकिन गाड़ी का कुछ पता नहीं चल सका था। फिर पुलिस ने आठ टीमें गठित की थी, लेकिन यह टीमें भी चार दिन बाद तक चोरों का पता नहीं लगा सकी हैं।

10 टीमें कर ही हैं चोर की तलाश

शहर में अभी तक होने वाले विभिन्न मामलों में पुलिस ने तीन या चार टीमें गठित की हैं। जिसके बाद पुलिस को सफलता भी मिली और आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया गया। लेकिन इस मामले में पुलिस ने 10 टीमें गठित की और चोरों की तलाश की जा रही है। लेकिन पुलिस को सफलता नहीं मिल सकी है। इसमें आठ टीमें थाना प्रभारी के नेतृत्व में काम कर रही है, जबकि दो सर्विलांस टीमें एसएसपी व एसपी सिटी की देखरेख में काम कर रही हैं।

30 से ज्यादा पुलिस कर्मी कर रहे तलाश

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार क्वार्सी थाना प्रभारी विजय सिंह की देखरेख में 8 टीमें काम कर रही हैं। जिसमें सब इंस्पेक्टर रैंक के चार पुलिस कर्मी और लगभग 15 हेड कांस्टेबल व कांस्टेबल की टीम लैपर्ड वाहन को तलाशने में जुटी है। जबकि एसएसपी व एसपी सिटी की देखरेख में काम करने वाली दो सर्विलांस टीमों में दो इंस्पेक्टर के साथ कई सब इंस्पेक्टर व कांस्टेबल पुलिस विभाग के लैपर्ड वाहन को तलाशने में जुटे हुए हैं।

पुलिस का दावा, आरोपी जल्द होगा गिरफ्तार

क्वार्सी थाना प्रभारी विजय सिंह ने बताया कि लैपर्ड की तलाश में पुलिस की टीमें लगातार काम कर रही हैं। उन्होंने बताया कि वाहन की तलाश लगातार की जा रही है और जल्दी ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होगा। जिसके बाद घटना का खुलासा किया जाएगा।

मेरठ में पांच साल पहले हुई थी घटना

अलीगढ़ के जैसे ही मेरठ में मेडिकल थाने से 1 जनवरी 2014 को पुलिस का फैंटम वाहन चोरी हो गया था। यह वाहन शास्त्री नगर स्थित विवाह मंडप के बाहर से चोरी हुआ था और इसमें कांस्टेबल संजय कुमार की तैनाती थी। जिसके बाद तात्कालीन एसएसपी ने सिपाही को निलंबित कर दिया था और उसके वेतन से फैंटम बाइक की कीमत वसूली गई थी। 5 माह बाद जब पूरा वेतन कट गया तो चोरी की बरामद हो गई थी। इसमें पुलिस ने दो आरोपी दिलशाद उर्फ मोटा और रियाजुद्दीन निवासी आड़ गांव मुंडाली को गिरफ्तार कर लिया। इनकी निशानदेही पर फैंटम और दो चोरी की बाइक बरामद कीं। जिसमें यह निकलकर आया था कि कांस्टेबल संजय कुमार के साथी सिपाही ने ही आपसी मनमुटाव के कारण सरकारी गाड़ी को चोरी कराया था।