पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Aligarh
  • Patients Will Be Given Treatment At Home, As Per The Instructions Of The Government, The Health Department Has Constituted A Task Force, The Monitoring Committee Will Keep An Eye On The Patients Coming To The District.

बुखार के मरीजों को ढूंढ़ने घर घर जाएंगी आशाएं:कोरोना पॉजिटिव की तरह ही बुखार के मरीजों को घर पर ही दिया जाएगा इलाज, शासन के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग ने गठित की टॉस्क फोर्स, निगरानी समिति रखेगी जिले में आने वाले मरीजों पर नजर

अलीगढ़9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मलखान सिंह जिला अस्पताल - Money Bhaskar
मलखान सिंह जिला अस्पताल

अलीगढ़ में कोरोना के जैसे ही अब बुखार के मरीजों को भी घर पर ही रखकर स्वास्थ्य विभाग बेहतर इलाज देगा। इसके लिए आशा कार्यकर्ताएं घर घर जाएंगी और बुखार के मरीजों को चिन्हित करेंगी। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने आदेश जारी कर दिए हैं। जिल में लगातार बुखार के मरीजों की बढ़ती संख्या के बाद स्वास्थ्य विभाग में एलर्ट जारी हो चुका है। प्रशासन भी इसके लिए सख्त है, जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को आशाओं को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई। जिससे मरीजों को समय रहते चिन्हित करके उनका इलाज शुरू किया जा सके।

टॉस्क फोर्स गांवों में जाकर करेगी सर्वे

आशाओं के साथ स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की देखरेख में सीएमओ ने टॉस्क फोर्स का भी गठन किया है। जिसमें ब्लाक स्तर पर सामने आ रहे और अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों पर नजर रखी जाएगी। इसके साथ लोगों को साफ सफाई के लिए भी जागरुक किया जाएगा। इन सभी के काम की निगरानी करने के लिए निगरानी समिति भी गठित की गर्इ है, जो जिले में होने वाले काम पर नजर रखेगी और इसकी रिपोर्ट अधिकारियों को सौंपेगी।

बुखार के मरीजों का किया जाएगा टीकाकरण

कोरोना की पहली डोज से वंचित रहने वाले बुखार पीड़ित लोगों को चिन्हित करने और इन्हें कोरोना की पहली डोज देने के लिए विभाग ने अभियान शुरू किया है। स्वास्थ्य विभाग की टॉस्क फोर्स मुख्य रूप से इसी पर काम करेगी और लोगों को महामारी से बचाव के लिए प्रेरित करेगी। बच्चों के लिए चलने वाले नियमित टीकाकरण से वंचित बच्चों को भी टॉस्क फोर्स चिन्हित कर इनका टीकाकरण का काम पूरा कराएगी।

डेंगू पर डीएम हुई सख्त

जिले में बढ़ रहे बुखार के प्रकोप को लेकर जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे सख्त हुई हैं और उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए हैं कि बुखार पीड़ितों के इलाज में किसी तरह की कोताही न बरती जाए। इसके साथ ही जिले में लगातार सामने आ रहे डेंगू के मरीजों को भी बेहतर इलाज मिले। इसके साथ उन्होंने निर्देश दिए कि संचारी रोगों के नियंत्रण के लिए क्षेत्रों में नियमित रूप से फॉगिंग की जाए।

ग्रामीण इलाकों में स्थिति है खराब

सीएमओ डॉ आनंद उपाध्याय ने बताया कि शहर से ज्यादा ग्रामीण इलाकों में बुखार के मरीज आ रहे हैं। इसलिए ग्रामीण क्षेत्र की टीमों को एलर्ट किया गया है। उन्होंने बताया कि हर सीएचसी में रोज 250 से 300 मरीज बुखार पहुंच रहे हैं, जिसमें से कुछ को भर्ती भी करना पड़ रहा है। लगातार बढ़ रहे मरीजों के कारण लोगों को उनके घर पर ही बेहतर इलाज उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जा रही है।

खबरें और भी हैं...