पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बुलंदशहर के इंस्पेक्टर ने अलीगढ़ के व्यापारी का किया अपहरण:अलीगढ़ के हरदुआगंज थाना क्षेत्र की घटना, इंस्पेक्टर समेत 10 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

अलीगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाना हरदुआगंज - Money Bhaskar
थाना हरदुआगंज

अलीगढ़ शहर में खाकी की एक काली करतूत फिर सामने आई है। बुलंदशहर कोतवाली में तैनात इंस्पेक्टर ने अलीगढ़ आकर रिवाल्वर की नोंक पर एक व्यापारी का अपहरण किया। जब मामला बढ़ा और पुलिस ने चारो तरफ नाकेबंदी की तो वह व्यापारी को हरदुआगंज थाना क्षेत्र में सड़क किनारे व्यापारी को छोड़कर भाग गया। जिसके बाद अलीगढ़ पुलिस ने बुलंदशहर में तैनात इंस्पेक्टर समेत 10 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

गुरुवार देर रात बुलंदशहर के आए अपराधी

पुलिस के मुताबिक शहर के अभिषेक तिवारी की तालानगरी में फैक्ट्री है। गुरुवार रात वह अपनी फैक्ट्री में बैठा था, तभी एक स्कार्पियो आकर उसकी फैक्ट्री के सामने रुकी। जिसके बाद स्कार्पियो से 8-10 लोग उतरे और उन्होंने अभिषेक को बाहर बुलाया। जब अभिषेक बाहर आया तो उन लोगों ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी और उसे रिवाल्वर की नोंक पर गाड़ी में डालकर अपहरण कर ले गए। जिसके बाद फैक्ट्री के कर्मचारियों ने उन्हें सूचना दी। पीड़ित के अनुसार आरोपियों के साथ बुलंदशहर कोतवाली में तैनात अजय यादव भी मौजूद था और उसने मारपीट करते हुए उसे कार में कार में बैठाकर ले जाने का प्रयास किया।

चौकी इंचार्ज से इंस्पेक्टर ने दिखाया रौब

अभिषेक के अपहरण के बाद उसकी फैक्ट्री के लोगों ने तत्काल पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद ताला नगरी चौकी प्रभारी हरेंद्र आनन फानन में वहां पहुंचे और उन्होंने स्कार्पियों का बाइक से पीछा किया। जिसके बाद उन्होंने स्कार्पियो को आगे जाकर रोक लिया। जिसके बाद गाड़ी से एक व्यक्ति निकला और उसने अपना नाम अजय यादव बताया और खुद को बुलंदशहर कोतवाली का इंस्पेक्टर बताते हुए चौकी इंचार्ज को वापस जाने के लिए बोल दिया। जब चौकी इंचार्ज ने उससे थाने चलने की बात की तो उसने चौकी इंचार्ज को भी धमकाया और वहां से चला गया।

आईजी मेरठ से बातचीत होने के बाद बचा व्यापारी

चौकी इंचार्ज को धौंस में लेने के बाद सभी आरोपी कारोबारी को अगवा करके बुलंदशहर की ओर निकले। इस दौरान सभी ने पीड़ित के साथ जमकर मारपीट की। इसी बीच पीड़ित के परिजन उच्च अधिकारियों के पास पहुंचे और उन्होंने उन्हें अपनी शिकायत दर्ज कराई। जिसके बाद अलीगढ़ पुलिस ने चारो ओर नाकाबंदी कर दी। ऐसे में आरोपियों ने व्यापारी को हरदुआगंज थाने के पास अधमरी हालत में छोड़ दिया और वहां से फरार हो गए।

आईजी से बात करने के बाद पुलिस हुई सक्रिय

आरोपियों में शामिल बुलंदशहर इंस्पेक्टर अजय ने तालानगरी चौकी इंचार्ज को बलाया था कि पीड़ित के खिलाफ शिकायत है और पुलिस कार्रवाई के तहत वह उसे लेकर जा रहे हैं। जिसके बाद व्यापारी के परिवार जन उच्च अधिकारियों के पास पहुंचे। जिसके बाद अलीगढ़ के अधिकारियों ने बुलंदशहर के आईजी से संपर्क किया, जिसके बाद उन्होंने इस तरह की किसी भी कार्रवाई से इनकार कर दिया। जिसके बाद अलीगढ़ पुलिस ने चारो ओर नाकाबंदी कर दी। जिसके बाद व्यापारी की जान बची और अपराधी उसे हरदुआगंज थाने के पास छोड़कर फरार हो गए।

अलीगढ़ में दर्ज हुआ मुकदमा

अतरौली सीओ शिव प्रताप ने बताया कि बुलंदशहर इंस्पेक्टर अजय यादव समेत 10 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और इनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। इंस्पेक्टर के साथ राजीव शर्मा, अजय अरोड़ा भी नामजद हैं। राजीव पर आरोप है कि उसने फैक्ट्री के बाहर व्यापारी को रिवाल्वर दिखाई और उसे मारते हुए गाड़ी के अंदर बैठाया। जिसके बाद सभी आरोपियों की तलाश की जा रही है।

बुलंदशहर इंस्पेक्टर हुआ निलंबित

मामला अलीगढ़ संज्ञान में आने के बाद पुलिस ने तत्काल मेरठ आईजी से संपर्क किया। जिसके बाद घटना से इनकार करते हुए बुलंदशहर एसएसपी से बातचीत की। जिसके बाद पता चला कि मेरठ या बुलंदशहर पुलिस के पास ऐसी कोर्इ जानकारी नहीं है। जिसके बाद मेरठ आर्इजी के निर्देशानुसार एसएसपी बुलंदशहर ने इंस्पेक्टर अजय यादव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। पुलिस के अनुसार अजय यादव बुलंदशहर में इंस्पेक्टर क्राइम ब्रांच के पद पर कार्यरत है। उसने ऐसा क्यों किया इसके लिए पुलिस व्यापारी से भी जानकारी जुटाने में जुटी है और आरोपियों की तलाश लगातार जारी है।

खबरें और भी हैं...