पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %

मंदिर-मस्जिद में टीकाकरण के लिए किया जाएगा प्रेरित:कोरोना से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग ने धर्मगुरुओं के साथ की बैठक, अब लोगों को करेंगे जागरुक

अलीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धर्मगुरुओं के साथ बैठक करते सीएमओ - Money Bhaskar
धर्मगुरुओं के साथ बैठक करते सीएमओ

अलीगढ़ में टीकाकरण को रफ्तार देने के लिए अब मंदिर, मस्जिद, चर्च और गुरुद्वारों समेत सभी धार्मिक स्थानों पर लोगों को प्रेरित किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग धर्म गुरुओं की सहायता से लोगों को प्रेरित करके उन्हें टीका लगवाने के लिए जागरुक करेगा। जिससे कि आमजनों को टीके के दोनों डोज देकर उन्हें कोरोना महामारी से सुरक्षित रहे। इसके लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने गुरुवार को जिले के धर्म गुरुओं के साथ बैठक की और उन्हें बताया कि लोग टीका लगवाने में रुचि नहीं ले रहे हैं। जिसके बाद धर्म गुरुओं ने आम नागरिकों की सुरक्षा के लिए विभाग को अश्वासन दिया कि वह लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करेंगे।

मुस्लिम क्षेत्रों में टीकाकरण की रफ्तार है धीमी

स्वास्थ्य महकमें के लिए मुस्लिम क्षेत्र सबसे ज्यादा परेशानी का सबब बने हुए हैं। क्योंकि इन क्षेत्रों में टीकाकरण की रफ्तार काफी धीमी है और यहां लोग वैक्सीन लगवाने में रुचि नहीं ले रहे हैं। स्थिति इस कदर खराब है कि मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में अभी 50 फीसदी से ज्यादा लोगों ने वैक्सीन की पहली डोज तक नहीं लगवाई है। जिसके बाद सीएमओ डॉ आनंद उपाध्याय ने मुस्लिम धर्म गुरुओं को आमजनों को प्रेरित करने के लिए कहा। जिसके बाद उन्होंने बताया कि मस्जिदों में टीका लगवाने के लिए एलान कराया जाएगा, इसके साथ ही पोस्टर व बैनर लगाकर लोगों को प्रेरित किया जाएगा कि लोग परिवार सहित अपना टीका कारण कराए।

मुस्लिम धर्मगुरुओं के साथ बातचीत करते सीएमओ
मुस्लिम धर्मगुरुओं के साथ बातचीत करते सीएमओ

कोविड टीकाकरण में सबसे पीछे था बिजौली ब्लाक

महामारी से बचाव के लिए लगने वाले टीकाकरण में अलीगढ़ का बिजौली ब्लाक सबसे फिसड्‌डी आया थ। वहीं विभाग के इस सर्वे में अलीगढ का लोधा ब्लाक सबसे अव्वल था। पूरे जिले में लगभग 62 प्रतिशत लोग कोविड वैक्सीन की पहली डोज ले चुके हैं, वहीं दूसरी ओर टीका लगवाने वालों में सिर्फ 22 प्रतिशत लोगों ने ही दूसरी डोज ली है। जिसके कारण विभाग की चिंता की लकीरें बढ़ी हुर्इ है। विभाग के अधिकारी लगातार ग्रामीण क्षेत्रों में जागरुकता कैंप लगाए जा रहे हैं, जिससे लोग महामारी के बचाव के लिए लगने वाले टीकाकरण में ज्यादा से ज्यादा संख्या में भाग ले। इसके बाद भी लोग जागरुक नहीं हो रहे हैं। जिसके बाद अब स्वास्थ्य विभाग ने धर्म गुरुओं की सहायता से टीकाकरण अभियान को तेज करने की योजना तैयार कर ली है।

खबरें और भी हैं...