पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57858.150.64 %
  • NIFTY17277.950.75 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486870.08 %
  • SILVER(MCX 1 KG)63687-1.21 %
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • There Was A Difference Of One And A Half To Two Times In The Price, The Shopkeeper Along With The Customer Was Also Upset, People Consumed Less

आगरा...आसमान छू रहे सब्जी के दाम:भाव में डेढ़ से दो गुने का आया अंतर, ग्राहक के साथ दुकानदार भी परेशान

आगरा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुजरात में बारिश और पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने से सब्जियों के भाव बढ़ गए हैं - Money Bhaskar
गुजरात में बारिश और पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने से सब्जियों के भाव बढ़ गए हैं

पेट्रोल - डीजल के दाम बढ़ने के बाद अब सब्जी के दाम भी आसमान छू रहे हैं। वर्तमान में ज्यादातर सब्जियों के दाम में डेढ़ से दो गुने का अंतर आया है। दुकानदारों के अनुसार पेट्रोल - डीजल के दाम बढ़ने और बारिश के मौसम की वजह से मंडी में सब्जी कम आ रही है। इसी कारण सब्जी के दाम बढ़ गए हैं। फिलहाल सब्जी ने मध्यमवर्गीय परिवारों का बजट बिगाड़ दिया है।

बारिश की वजह से सब्जी के दामों में लगातार वृद्धि होती जा रही है। जिस प्याज के दाम 20 रुपए प्रति किलो थे आज प्याज 40 से 50 रुपए प्रति किलो बेची जा रही। टमाटर 60 से 80 रुपए प्रति किलो है। मेथी 120 रुपये, अरवी 40, खीरा 40 के साथ टिंडा भी इस समय 40 रुपये किलो बिक रहा है। इसी के साथ ही शिमला मिर्च, हरि मिर्च, गोभी, भिंडी आदि सब्जियों के दामों में वृद्धि हुई है। न्यू आगरा सब्जी मंडी में सब्जी खरीद रही काजल अग्रवाल ने बताया की आजकल सब्जियों ने पूरा बजट बिगाड़ दिया है। सब्जी से सस्ता तो यह है की पनीर की सब्जी बनाकर खा लिया जाए। हर सब्जी के दाम बढ़ गए हैं ।

सब्जियों के दाम बढ़ने के चलते लोग सब्जी कम खरीद रहे हैं
सब्जियों के दाम बढ़ने के चलते लोग सब्जी कम खरीद रहे हैं

सब्जी की खपत हुई आधी

सब्जी विक्रेता परशुराम का कहना है कि जो व्यक्ति पहले एक किलो सब्जी ख़रीदता था, वह बड़े हुए दाम सुनकर सिर्फ आधा किलो खरीद रहा है। पेट्रोल, डीजल महंगा हो गया। जिन गाड़ियों में मंडी से सब्जी आती है, उन्होंने भाड़ा बढ़ा दिया है।यह भी सब्जियों के महंगे होने का कारण है। गुजरात मे हुई लगातार बारिश से भी कुछ सब्जियों की फसलों में नुकसान हुआ है, जिसके कारण सब्जी महंगी है। मंडी में आढ़त करने वाले नियाज बताते हैं की सब्जी का धंधा कच्चा धंधा है। इसमें कुछ सब्जी छोड़कर बाकी सब्जियां स्टॉक नहीं की जा सकती हैं। जब माल आ ही महंगा रहा है तो बाजार में भी महंगा जा रहा है।

खबरें और भी हैं...