पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फैशन ब्लॉगर रितिका हत्याकांड:पुलिस ने अभी तक नहीं मांगी आरोपियों की रिमांड, कहां गया मौके पर मिला बैग, क्या तह तक नहीं जाना चाहती पुलिस?

आगरा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतका रितिका सोशल मीडिया  पर काफी एक्टिव थी - Money Bhaskar
मृतका रितिका सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव थी

आगरा के थाना ताजगंज अंतर्गत ॐ श्री अपार्टमेंट में शुक्रवार को चौथी मंजिल से फेंककर हुई फैशन ब्लॉगर की हत्या के मामले में पकड़े गए आरोपियों की पुलिस ने अभी रिमांड नहीं मांगी है। मामले में अधिकारी फरार आरोपियों की तलाश में लगातार दबिश की बात कह रहे हैं। परिजनों के अनुसार मौके पर मौजूद रहे लिव इन पार्टनर और हत्यारोपित पति के बयान के आधार पर क्राइम रीक्रिएशन बिना रिमांड के सम्भव नहीं है।

आरोपी आकाश और दो महिलाओं को मौके से पकड़ा गया था
आरोपी आकाश और दो महिलाओं को मौके से पकड़ा गया था

आगरा एसएसपी सुधीर कुमार का हत्याकांड के अगले दिन तबादला होने का असर रितिका हत्याकांड की जांच पर पड़ रहा है। हत्याकांड में मौके पर पकड़े गए आरोपी पति आकाश गौतम व उसके साथ आई महिलाओं को रिमांड पर लेने का अभी तक कोई प्रयास नहीं किया गया है। मृतका और पति व लिव इन पार्टनर के कॉल डिटेल की जांच के बारे में अभी तक पुलिस कोई ठोस जानकारी नहीं दे पाई है। मृतका की मां के द्वारा लगातार लिव इन पार्टनर विपुल अग्रवाल और उसकी पत्नी को साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया गया है पर पुलिस को जांच में अभी तक विपुल की कोई भूमिका नजर नहीं आई है। ऐसे में परिजन सवाल उठा रहे हैं कि दो माह पूर्व रहने आने के बाद आखिर पति को रितिका के वहां होने की जानकारी कैसे मिल गयी।

रितिका एक खूबसूरत फैशन प्रोडक्ट्स ब्लॉगर थी और उसके 44 हजार फॉलोअर इंस्टाग्राम पर थे
रितिका एक खूबसूरत फैशन प्रोडक्ट्स ब्लॉगर थी और उसके 44 हजार फॉलोअर इंस्टाग्राम पर थे

तड़प कर मरी थी रितिका

मृतका की लाश के हाथ बंधे हुए पाए गए थे और उसके गले मे कपड़े का फंदा था। शरीर पर चोट के निशान थे। पोस्टमार्टम में गिरकर हड्डियां टूटने और इंटरनल ब्लडिंग के कारण मौत होने की पुष्टि हुई है। इतनी दुर्दांत मौत के बाद भी पकड़ी गयी महिलाओं कुषमा, काजल और पति आकाश के चेहरे पर कहीं कोई शिकन नहीं दिखाई दी थी।

मृतका की मां मंजू ने लिव इन पार्टनर और उसकी पत्नी के साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया है
मृतका की मां मंजू ने लिव इन पार्टनर और उसकी पत्नी के साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया है

परिजनों को नहीं मिल पा रहे इन सवालों के जवाब

आरोपी आकाश गौतम के बारे में तफ्तीश में पता चला है कि वो बेरोजगार था और पत्नी के दम पर उसका गुजारा चल रहा था। ऐसे में उसने चार लोगों को लालच देकर घटना में शामिल किया। सीसीटीवी फुटेज के अनुसार आकाश पहले अपार्टमेंट के बाहर काफी देर साथियों के साथ रुका हुआ था। रजिस्टर में भी उसने लग फ्लैट में जाने की जानकारी दी थी। सीसीटीवी फुटेज में वो चार खाने की शर्ट पहन कर गया और बाहर आते समय वो काली शर्ट पहने हुए था। आखिर चार खाने वाली शर्ट कहां है? हत्या के बाद आरोपी आराम से नीचे आया और मृतका के गले मे बंधा कपड़े का फंदा हटाने का प्रयास किया, जबकि ऐसे समय में व्यक्ति भागने का प्रयास करता है। जेल जाते समय भी आकाश ने खुद के द्वारा हत्या न किये जाने की बात मीडिया से कही और लिव इन पार्टनर पर आरोप लगाया। आरोपियों के पास बैग मिला था और मृतका के परिजनों ने बेटी के 1 लाख छीनने का आरोप लगाया था। पुलिस ने आरोपी के पास से 1 मोबाइल और 1 हजार रुपये बरामद दिखाए हैं तो वो बैग कहां गया? लिव इन पार्टनर विपुल के बयान के आधार पर क्राइम सीन का रीक्रिएशन किया जाने की बात एसएसपी ने बतायी थी और आरोपी आकाश को मौके पर ले जाकर उसके द्वारा भी बयान लेकर दोनों का मिलान कब होगा? परिजन के आरोपों के आधार पर पुलिस अभी तक लिव इन पार्टनर की पत्नी का बयान क्यों नहीं ले पाई? आरोपी ने मृतका का मोबाइल अपने साथियों को देकर वहां से क्यों भगा दिया?

लिव इन पार्टनर विपुल अग्रवाल सीए है और उसके स्कूल में नौकरी के दौरान रितिका से जान पहचान हुई थी
लिव इन पार्टनर विपुल अग्रवाल सीए है और उसके स्कूल में नौकरी के दौरान रितिका से जान पहचान हुई थी

यह है पुलिस का जवाब

मामले में सीओ सदर अर्चना सिंह ने बताया है कि सभी तथ्यों पर जांच की जा रही है। फरार आरोपियों चेतन और अनवर की तलाश में फिरोजाबाद और संभावित स्थानों पर दबिश दी जा रही है। आरोपियों की रिमांड नहीं मांगी गयी है।

खबरें और भी हैं...