पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Ration Salt Does Not Dissolve In Water, Particles Are Seen Like Glass stone, Full Story Recorded In Video In Agra Firozabad And Mainpuri On Complaint Of Beneficiaries

यूपी के 15 करोड़ लोगों के साथ 'नमक हरामी':सरकारी राशन का नमक पानी में घुलता ही नहीं, कांच-पत्थर जैसे कण; देखिए VIDEO

आगरा/मैनपुरी/फिरोजाबाद4 महीने पहलेलेखक: गौरव भारद्धाज, प्रमोद सिंह, अरुण रावत
  • कॉपी लिंक
नमक की गुणवत्ता खराब होने से लोग नाराज हैं। उनका कहना है कि प्रदेश की जनता के साथ जिम्मेदार विभाग खिलवाड़ कर रहा है।

चुनाव से पहले लोगों पर सरकार मेहरबान है। प्रदेश सरकार 15 करोड़ गरीबों को फ्री राशन दे रही है। इस बार राशन के साथ सरकार रिफाइंड, दाल और नमक भी दे रही है। मगर, राशन के इस नमक से लोगों के मुंह का जायका बिगड़ रहा है। नमक डालने के बाद खाने में खिसखिसाहट की शिकायत आ रही है। नमक ऐसा है, जो पानी में भी नहीं घुलता। नमक की गुणवत्ता खराब होने से लोग नाराज हैं। उनका कहना है कि प्रदेश की जनता के साथ जिम्मेदार विभाग खिलवाड़ कर रहा है।

पानी में नहीं घुल रहा नमक

नमक ऐसा है, जो पानी में भी नहीं घुलता।
नमक ऐसा है, जो पानी में भी नहीं घुलता।

प्रदेश सरकार द्वारा दिए जा रहे नमक में खिसखिसाहट और उसके पानी में नहीं घुलने की शिकायत कई जिलों से आ रही थीं। आगरा के साथ मैनपुरी, फिरोजाबाद में लोगों का कहना था कि नमक खाने में डालने के बाद खिसखिसाता है। साथ ही पानी में भी नहीं घुलता।

शिकायत के बाद दैनिक भास्कर ने इसकी पड़ताल कराई। आगरा के सामाजिक कार्यकर्ता नरेश पारस के साथ भास्कर टीम जगदीशपुरा पहुंची। यहां पर कविता नाम की महिला के घर नमक का सीलबंद पैकेट था। महिला से पैकेट को खुलवाया और फिर उनसे उसे गर्म पानी में घोलने के लिए कहा।

काफी देर बाद तक चम्मच से नमक को घोलने का प्रयास किया गया, मगर वह पूरी तरह से नहीं घुला। पानी में नीचे सफेद कण रह गए। जिसे अंगुली से रगड़ने पर वह कांच या पत्थर जैसे लग रहे थे। सामाजिक कार्यकर्ता नरेश पारस का कहना है कि वह इसकी शिकायत करेंगे। यह गरीबों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ है।

नमक पूरी तरह से नहीं घुलता, सफेद-सफेद कण रह जाते हैं
मैनपुरी के किशनी ब्लॉक में भी इसकी पड़ताल कराई गई। यहां भी एक युवती ने पैकेट खोलकर नमक को गर्म पानी में खोलने का प्रयास किया। काफी प्रयास के बाद भी नमक पूरी तरह नहीं घुलता है। नीचे सफेद-सफेद कण रह जाते हैं। युवती का कहना है कि नमक को खाने में डालने से खिसखिसाहट हो रही है। ऐसा लगता है कि यह कांच या कोई पत्थर है। इसके चलते गांव में सभी ने नमक फेंक दिया है।

आगरा में भी इस तरह की शिकायत मिली है। यहां पर भी लोगों ने नमक में खिसखिसाहट होने की शिकायत की है। जब लोगों ने पानी में नमक घोल कर देखा, तो यहां भी नमक पूरी तरह से नहीं घुला। फिरोजाबाद में भी इसी तरह की शिकायत मिली है।

प्रदेश में 15 करोड़ परिवार कर रहे नमक का इस्तेमाल
प्रदेश सरकार 17 करोड़ परिवार को राशन में नमक दे रही है। नमक की सप्लाई यूपी का खाद्य एवं रसद विभाग कर रहा है। पैकेट पर लिखा है कि इसकी पैकिंग गुजरात में की गई है। इस मामले में मैनपुरी के जिला आपूर्ति अधिकारी उवैदुर रहमान खान का कहना है कि शिकायत मिलने पर नमक की सैंपलिंग के लिए अधिकारी को निर्देश दिए गए हैं। वहीं, आगरा में जिला आपूर्ति अधिकारी संजीव कुमार द्वारा इस तरह की कोई शिकायत न मिलने की बात कही है।

नमक होता है घुलनशील डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय के रसायन विभाग के प्रोफेसर अजय तनेजा ने बताया कि आयोडाइज्ड नमक पानी में घुलनशील होता है। गर्म पानी में नमक आसानी से पूरी तरह घुल जाता है। अगर कोई नमक गर्म पानी में पूरी तरह नहीं घुल रहा, तो उसमें यह देखा जाना चाहिए कि कहीं उसमें कोई और तत्व तो नहीं मिला है।

खबरें और भी हैं...