पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वेतन को परेशान शिक्षक और कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर:आगरा में डायट प्राचार्य धीरेंद्र यादव ने गुरुवार को सम्भाला बीएसए का अतिरिक्त चार्ज

आगराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जनपद के करीब 4 हजार शिक्षक और कर्मचारियों का अटका हुआ था वेतन। - Money Bhaskar
जनपद के करीब 4 हजार शिक्षक और कर्मचारियों का अटका हुआ था वेतन।

बेसिक स्कूलों के शिक्षक एवं कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। डायट प्राचार्य धीरेंद्र यादव ने गुरुवार को बीएसए का अतिरिक्त चार्ज सम्भाल लिया है। बीएसए सतीश कुमार के निलम्बन के बाद प्रभारी बीएसए वीरेंद्र शर्मा के पास वित्तीय चार्ज न होने से बेसिक स्कूलों में करीब 4 हजार शिक्षामित्र, अनुदेशक और कर्मचारियों का वेतन अटक गया था। अब जल्द ही सभी का वेतन जारी हो जाएगा। बीएसए आगरा सतीश कुमार के निलम्बन के बाद खंड शिक्षा अधिकारी वीरेंद्र शर्मा बतौर प्रभारी बीएसए रुटीन एवं प्रशासनिक कार्य कर रहे थे। उनके पास वित्तीय चार्ज न होने से राजकीय जूनियर हाईस्कूल के शिक्षक, कर्मचारी, अनुदेशक, शिक्षामित्र, कस्तूरबा गांधी विद्यालय के स्टाफ एवं बाबू तथा संविदा कर्मियों आदि का वेतन अटक गया था। बेसिक स्कूलों से रिटायर्ड हुए शिक्षकों के वित्तीय कार्य रुके हुए थे। दस वर्ष सेवा पूर्ण कर चुके शिक्षकों की वेतन वृद्धि करने की प्रक्रिया भी बंद थी। डायट प्राचार्य धीरेंद्र यादव के चार्ज लेते ही वित्तीय कार्यों में अब तेजी आएगी।

भ्रष्टाचार में निलम्बित किए गए थे बीएसए आगरा
आगरा के बीएसए सतीश कुमार को शासन ने निलम्बित कर दिया था। उन्होंने जनपद हमीरपुर में अपनी तैनाती के दौरान शासन की रोक के बावजूद अपने स्तर से सैकड़ों शिक्षकों एवं कर्मचारियों के ट्रांसफर कर दिए थे। इस मामले में बीएसए की भ्रष्टाचार एवं अनियमितताओं की शिकायतें शासन को गईं थीं। जांच में बीएसए को दोषी पाए जाने पर निलम्बित कर दिया गया था।