पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मिलावटी मिठाइयों का डर... 5 गुना बढ़ी पेठे की मांग:दिवाली के लिए आगरा में 100 करोड़ रुपए का पेठा तैयार, बीते सालों में सबसे ज्यादा

आगरा:6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मिलावटी मिठाइयों के डर से इस बार आगरा के पेठों का कारोबार 5 गुना तक बढ़ गया है। रोजाना यहां 50 टन पेठा तैयार हो रहा है। कारोबारियों का कहना है कि करीब 100 करोड़ रुपए का पेठा इस सीजन में बाजारों में भेजा गया है। इस बार अन्य राज्यों से भी पेठे के गिफ्ट पैक की डिमांड आ रही है।

दीपावली के लिए तैयार पेठे का गिफ्ट पैक।
दीपावली के लिए तैयार पेठे का गिफ्ट पैक।

दीपावली पर बढ़ गई डिमांड
दीपावली पर बाजार में महंगी से महंगी मिठाई है। ऐसे में लोगों के मन में कहीं से कहीं उनकी शुद्धता को लेकर संशय रहता है। ऐसे में दीपावली की मिठाई में आगरा के पेठे ने अपनी जगह बनाई है। आगरा के नूरी दरवाजा स्थित थोक पेठा बाजार में दीपावली के लिए अलग-अलग वैरायटी के पेठा तैयार किए गया हैं। कालिंदी विहार पेठा समिति के उपाध्यक्ष व थोक कारोबारी सोनू मित्तल ने बताया कि दीपावली से पहले बाजार में पेठे की डिमांड बढ़ गई है। दीपावली के लिए इस बार चेरी पेठा, केसर चैरी, गुलाब लड्‌डू पेठा, मेबावाटी, सैंडविच पेठा, पान गिलोरी पेठा समेत करीब 24 वैरायटी तैयार की गई हैं। गिफ्ट पैक भी बाजार में उतारा गया है।

दीपावली के लिए इस बार चेरी पेठा, केसर चैरी, गुलाब लड्‌डू पेठा, मेबावाटी, सैंडविच पेठा, पान गिलोरी पेठा समेत करीब 24 वैरायटी तैयार की गई हैं।
दीपावली के लिए इस बार चेरी पेठा, केसर चैरी, गुलाब लड्‌डू पेठा, मेबावाटी, सैंडविच पेठा, पान गिलोरी पेठा समेत करीब 24 वैरायटी तैयार की गई हैं।

लक्ष्मी पूजन में पेठे का विशेष महत्व
शहीद भगत सिंह पेठा कुटीर उद्योग के अध्यक्ष व पेठा कारोबारी राजेश अग्रवाल ने बताया कि पेठा का प्रयोग महाभारत काल से होता आ रहा है। पेठे को पूजा के लिए शुद्ध माना जाता है। लक्ष्मी पूजन में इसका विशेष महत्व है। ऐसे में दीपावली पर पेठे की डिमांड बढ़ी है। उन्होंने बताया कि हर दिन बाजार में करीब 50 टन पेठा तैयार हो रहा है। आगरा के अलावा महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्यप्रदेश, पंजाब, दिल्ली, बिहार, छत्तीसगढ, उत्तराखंड से अच्छी डिमांड आई है।

पेठे केवल चासनी से बनता है, इसमें किसी और चीज का मिश्रण न होने के कारण यह पूरी तरह शुद्ध व सेहत के लिए अच्छा होता है। ऐसे में लोग मिठाई के रूप में अब पेठे को पसंद कर रहे हैं। आलम यह है कि पेठा इकाइयों में दिन-रात काम चल रहा है। इस बार गिफ्ट के लिए पेठे का बंपर ऑर्डर मिला है। पेठे की तुलना में दूसरी मिठाइयां काफी महंगी है। पेठे की शुरुआत 130 रुपये से 350 रुपए किलो तक है। ऐसे में आगरा के आसपास के जिलों से दीवाली से पहले ही पेठे के गिफ्ट पैक तैयार करने के ऑर्डर आना शुरू हो गए थे। दीपावली पर करीब 100 करोड़ के कारोबार का अनुमान है।

पेठा कारोबारी सोनू मित्तल और राजेश अग्रवाल।
पेठा कारोबारी सोनू मित्तल और राजेश अग्रवाल।

पेठा कारोबार की स्थिति
पेठा इकाइयां - 500
पेठा कारोबार में जुडे़ लोग - 40 हजार
पेठे की दुकानें - 2500
प्रतिदिन पेठे की खपत (सामान्य दिनों में ) - करीब 10 टन

खबरें और भी हैं...