पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किरावली में किसानों की प्रशासन से मांग:आखिर कब आएगा नहरों में पानी, फसलें रही हैं सूख

किरावलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मलपुरा - आगरा ग्रामीण विधानसभा की सभी माइनरों में पानी ना आने से, किसान काफी चिंतित दिखाई दे रहे हैं। किसानों का कहना है कि, ऊपर आसमान से आग बरस रही है। ऐसे में नहरों में पानी ना आने से, फसलें खेतों में खड़ी खड़ी सूख रही हैं। किसानों ने शासन प्रशासन से मांग की है कि, नहरों में जल्द से जल्द पानी छोड़ा जाए। ताकि, फसलों को बचाया जा सके।

नगला भूरिया के किसान प्रीतम सिंह ने बताया है कि, फसलों के साथ-साथ, पशु-पक्षी भी नहरों में पानी न आने के चलते परेशान है। उन्होंने कहा कि, बिना पानी के कभी-कभी पशु-पक्षी अपनी दम भी तोड़ देते हैं। शासन को इस ओर ध्यान देना चाहिए। गांव खलौआ के किसान नरेंद्र चाहर ने बताया है कि, गढ़ साहनी माइनर का हेड टूटने के चलते, इस नहर में पानी नहीं आता। सिंचाई विभाग का इस ओर कोई ध्यान नहीं है, उन्हें ध्यान देना चाहिए। ताकि किसानों को समय से पानी मिल सके।

शिकायत के बावजूद नहीं दिया जा रहा ध्यान

इसकी शिकायत उन्होंने शासन प्रशासन से कई बार की है लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई है। गांव सुकड़ी के किसान प्रताप सिंह का कहना है कि, समय से पानी ना आने के चलते इस समय खेतों में ज्वार, मूंग, कपास सहित कई फसलें सूख रही हैं। ज्वार के सूखने से पशुओं को समय से हरा चारा भी नहीं मिल पा रहा है। भूसा भी तकरीबन 15000 रुपए से लेकर 18000 रुपए तक महंगा है। शासन प्रशासन से अपील करते हैं कि, नहरों में सुचारू रूप से जल्द से जल्द पानी छोड़ा जाए।

खेतों में खड़ी फसलें रही हैं सूख
खेतों में खड़ी फसलें रही हैं सूख

नहर में खड़े होकर किया प्रदर्शन

किसानों ने नहर में खड़े होकर, सिंचाई विभाग के खिलाफ प्रदर्शन भी किया है। और मांग की है कि, नहरों में जल्द से जल्द पानी छोड़ा जाए। इस मौके पर, अमीरचंद, प्रताप सिंह, मंगल सिंह, बच्चू सिंह, नरेंद्र चाहर, बेताल चौधरी, प्रीतम सिंह सहित अन्य किसान मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...