पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खेरागढ़ में कैमरे में कैद हुई तेंदुआ की तस्वीर:वाइल्ड लाइफ और एसओएस की टीम चला रही संयुक्त ऑपरेशन, मां और उसके दो बच्चे होने के संकेत

खेरागढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ताजनगरी आगरा के खेरागढ़ तहसील क्षेत्र में अरावली पर्वतमाला से लगे गांव रिछोहा में बीते पन्द्रह दिनों से जंगली जानवरों की सुगबुगाहट है। जिससे ग्रामीण दहशत के साए में जी रहे हैं। इसे लेकर वन विभाग और वाइल्ड लाइफ और एसओएस की टीम संयुक्त ऑपरेशन चलाकर जानवरों का पता लगाने में जुटी हुई है। वाइल्ड लाइफ एसओएस की टीम के कैमरों में एक तेंदुआ की तस्वीर कैद हो गई हैं। जिससे टीम अब तेंदुआ की संख्या के साथ नर और मादा का पता लगाने में जुटी है।

कैमरे में कैद हुई तेंदुआ की तस्वीर
वाइल्ड लाइफ एसओएस की टीम बीते कई दिनों से जंगली जानवरों का पता लगाने के लिए पिंजरे के ऊपर कैमरा ट्रेपर लगाया था, लेकिन दो दिन तक कैमरे में कोई तस्वीर नहीं आई। बीते मंगलवार की रात कैमरे में एक तेंदुआ की तस्वीर कैद हुई। जिससे स्पष्ट हो गया कि बाघ नहीं हैं। तस्वीर रात की होने के कारण धुंधली है। कैमरे में कैद हुए तेंदुएं की तस्वीर से यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि वह नर है या मादा।

बढ़ाई गयी कैमरों की संख्या
वाइल्ड लाइफ एसओएस की टीम ने अब कैमरों की संख्या बढ़ा दी है। जिससे जल्द से जल्द यह स्पष्ट हो सके कि जंगल में एक मादा के साथ उसके दो बच्चे हैं या उससे ज्यादा। फिलहाल टीम यह मानकर चल रही है कि एक मादा के साथ उसके दो बच्चे हैं, लेकिन स्पष्ट होने के बाद ही उन्हें पकड़ने की दिशा में कार्य योजना बनाकर वर्क आउट किया जाएगा।

मां और उसके दो बच्चे होने के संकेत
वाइल्ड लाइफ एसओएस के डायरेक्टर कंजरवेशन बैजूराज एमवी ने बताया कि अभी तक के ऑपरेशन में एक तेंदुआ की तस्वीर कैद हो पाई है। एक मां और उसके दो बच्चे होने के संकेत मिल रहे हैं। ट्रेपर कैमरे से जल्दी पता लगाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है कि उनकी कितनी संख्या हैं। अब हमें उसी के अनुसार आगे की रणनीति तैयार करके ऑपरेशन चला रहे हैं।

खबरें और भी हैं...