पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तंत्र क्रियाओं को बढ़ाने के लिए मासूम की बलि:पहले गला दबाकर मार डाला फिर नदी में फेंक दिया शव, तांत्रिक गिरफ्तार

खेरागढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आगरा में एक तांत्रिक ने अपनी तंत्र क्रियाओं को बढ़ाने के लिए एक मासूम की बलि दे दी। बच्चे को पहले गला दबाकर मार डाला फिर 16 जून को किवाड़ नदी में शव को फेंक दिया। पुलिस ने मंगलवार को वारदात का पर्दाफाश कर दिया। आरोपी तांत्रिक को गिरफ्तार कर लिया गया है।

15 जून को बरिगवां बुजुर्ग निवासी रामअवतार के ढाई वर्षीय बेटे ऋतिक कुएं के पास खेल रहा था। इसके बाद अचानक वह लापता हो गया। परिवार के लोग उसकी तलाश में जुटे थे लेकिन बच्चे के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल रही थी। पिता ने इसकी सूचना पुलिस को दी थी। इसके बाद अगले दिन 16 जून को किवाड़ नदी में बच्चे का शव मिला था।

ग्रामीण ने पुलिस को बताई तांत्रिक की करतूत

पुलिस घटना के पर्दाफाश में लगी थी। गांव के शेरू ने पुलिस को तांत्रिक की करतूत बता दी। इसके बाद पुलिस ने तांत्रिक आरोपी भोला उर्फ हुकम सिंह पुत्र कैलाशी को बमनई के जंगलों से दबोच लिया। पुलिस की पूछताछ में तांत्रिक ने जब सच्चाई बताई तो पुलिस भी हैरान रह गई।

पुलिस की गिरफ्त में यह वही तांत्रिक है जिसने मासूम का बेरहमी से कत्ल कर दिया। इसके बाद शव को सूखी नदी में फेंक दिया।
पुलिस की गिरफ्त में यह वही तांत्रिक है जिसने मासूम का बेरहमी से कत्ल कर दिया। इसके बाद शव को सूखी नदी में फेंक दिया।

ट्यूबवेल के कमरे में ले जाकर दबाया गला

तांत्रिक ने पुलिस को बताया कि उसने अपने ट्यूबवेल के कमरे में ले जाकर रितिक की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को मां के चरणों में रखने के बाद उसे बोरे में बंद करके झाड़ियों में छुपा दिया। इसके बाद 16 जून की सुबह 4 बजे बोरे में रखकर शव को नदी में फेंक दिया। 16 जून की सुबह चार बजे बच्चे को बोरी में डालकर सूखी पड़ी किवाड़ नदी में फेंक दिया था, जिससे उसके शव को जंगली जानवर खा जाएं।

तांत्रिक ने परिवार को बलि चढ़ाने की दी थी धमकी

गांव के शेरू ने भोला उर्फ हुकम सिंह पुत्र कैलाशी को रितिक को अपने साथ ले जाते देख लिया था। तांत्रिक ने शेरू को धमकी दी थी कि यदि किसी को घटना के बारे में बताया तो तुम्हारे परिवार के सभी लोगों की चामड़ माता के स्थान पर बलि चढ़ा दूंगा। ऐसी तांत्रिक क्रिया करूंगा कि तुम्हारे घर में रोज एक लोग की मौत होगी। इसके बावजूद शेरू ने हिम्मत दिखाते हुए पुलिस को सच्चाई बता दी।

बच्चे के पिता की संपत्ति भी हड़पना चाहता था तांत्रिक

मासूम रितिक के पिता रामअवतार को बरिगवां बुजुर्ग निवासी गरीबा ने गोद लिया था। पिता-पुत्र में अक्सर कहासुनी हो जाया करती थी। गरीबा ने विवाद में रामअवतार को संपत्ति न देने की बात कह दी थी। तांत्रिक भोला ने यह बात सुन ली थी। इसके बाद तांत्रिक बच्चे की बलि के साथ संपत्ति हड़पने का भी तानाबाना बुनने लगा। उसे लगा कि रितिक की हत्या के बाद रामअवतार अपने गांव पीपल खेड़ा चला जाएगा, इसके बाद गरीबा अकेला पड़ जाएगा। खर्च चलाने के लिए वह संपत्ति बेचेगा और वह उसे खरीद लेगा। तांत्रिक एक तीर से 2 निशाने साधना चाहता था।

खबरें और भी हैं...