पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस ने नहीं किया गिरफ्तार तो समाज ने किया बहिष्कार:हत्या मामले में तीन हैं नामजद, क्षेत्रीय दुकानों, बाजारों में सामान तक देना किया बंद

फतेहपुर सीकरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आगरा के फतेहपुर सीकरी थाना क्षेत्र निवासी एक युवक की हत्या का आरोप में ग्रामीणों ने आरोपियों के परिवार का समाज से बहिष्कार कर दिया। गांव में न कोई उनके साथ उठता बैठता न बोलता। यहां तक कि क्षेत्रीय दुकानों और बाजारों में लोगों ने उन्हें सामान देना बंद कर दिया। इसकी सूचना पुलिस को मिली तो गांव पहुंचकर लोगों को समझाया। इस प्रकार से किसी का सामाजिक बहिष्कार करने को गलत बताया।

दरअसल, क्षेत्र के दूरा गांव निवासी कैंपर चालक सुनील कुमार का शव 23 अप्रैल को गांव से 12 किलोमीटर दूर तेहरामोरी बांध के पास राजकीय उद्यान में पेड़ पर फंदे से लटका मिला था। सुनील के परिजवारीजन एवं रिश्तेदारों ने मृतक का शव ले जा रहे टेंपो को हाईवे पर रोक कर कई घंटे हाईवे जाम किया था।

सुनील कुमार के भाई राजकुमार की तहरीर पर तीन के विरुद्ध थाना फतेहपुर सीकरी में हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था। इसके पश्चात भी पोस्टमार्टम हाउस एसएन मेडिकल कॉलेज आगरा मैं हंगामा किया गया था।पोस्टमार्टम के पश्चात सुनील का शव गांव पहुंचा तो सड़क पर रखकर नामजद लोगों की गिरफ्तारी न होने तक अंतिम संस्कार न करने की चेतावनी दी, मार्ग भी जाम किया गया था। तत्कालीन क्षेत्राधिकारी महेश कुमार ने 72 घंटा में समुचित कार्रवाई का भरोसा देकर सुनील के शव का अंतिम संस्कार कराया था।

गांव में सर्व समाज की पंचायत में सुनील कुमार के पिता किशन सिंह व भाई राजकुमार ने आप बीती सुनाई। आंखों में आंसू लेकर समाज के लोगों से सहयोग एवं न्याय दिलाने की गुहार लगाई गई थी। समाज के लोगों ने पुलिस की जांच की चाल पर असंतोष जताते हुए परिवार के सामाजिक बहिष्कार करने की चेतावनी जारी की थी। अब परिवार से सामाजिक रिश्ता खत्म करने एवं बाजार हाट में कोई सामान न देने जैसे फरमान भी जारी हुए थे।

सर्व समाज के बहिष्कार की सूचना पर थाना इंचार्ज प्रशिक्षु आईपीएस श्रुति श्रीवास्तव, कस्बा चौकी इंचार्ज सुनील तोमर एवं अन्य पुलिसकर्मियों के साथ दूरा पुलिस चौकी पर पहुंची। सुनील के परिवारीजन एवं संभ्रांत ग्रामीणों की बैठक में कहा मामले की विवेचना चल रही है। क्षेत्राधिकारी अछनेरा मामले की गहन विवेचना कर रहे हैं। आप सभी लोग धैर्य रखें पुलिस प्रशासन पर भरोसा रखें सब ठीक होगा। इस तरह की चेतावनी देना न्याय उचित नहीं है।

खबरें और भी हैं...