पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

छात्र संगठनों ने दिया समर्थन:आंदोलन की रणनीति तैयार, 3 जून को सूरतगढ़ थर्मल का करेंगे घेराव

सूरतगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एटा सिंगरासर माइनर को लेकर एक बार फिर टीबा बेल्ट में पानी को लेकर आग सुलग गई है। संघर्ष समिति की 15 मई को हुई पल्लू में हुई महापंचायत के दौरान संघर्ष समिति ने सुरतगढ थर्मल के घेराव की घोषणा की है। इसी के तहत संघर्ष समिति को सुरतगढ के विभिन्न छात्र संगठनों ने भी अपना समर्थन देने का ऐलान किया है।

छात्रसंघ ने किया समर्थन का एलान
छात्रसंघ अध्यक्ष सुमित चौधरी ने बताया कि नहर निर्माण से जुड़ी हर एक किसान की समस्या है और क्षेत्र का प्रत्येक छात्र किसान वर्ग का छात्र है। ऐसे में सरकार ने बजट में नहर की घोषणा नही करके किसान मजदूर वर्ग की आवाज को सरकार ने दबाने का प्रयास किया है। इस दौरान पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष रामू छीम्पा, किसान जागृति मंच हरी बेनीवाल, NSUI के छात्रसंघ अध्यक्ष सुनील सिहाग, छात्रसंघ सुमित चौधरी, पूर्व छात्रसंघ अजीत चौधरी,NSUI जिला महासचिव अशोक कड़वासरा, NSUI तहसील अध्यक्ष कमल रेगर, सुनील गोदारा, प्रवीण साईं, अशोक कुलड़िया,देवी सिंह, आकिब खान, हर्षित बिश्नोई, सिकंदर खान, कमल गौड़, सुधीर बिश्नोई, योगेश स्वामी, रमेश पिलानिया, सुमित सारस्वत, अमित पुनियाँ, बबलू सिहाग, जयवर्धन सिंह, बादल ज्याणी, शेलेन्द्र भाम्भू, रमन गोदारा, रविन्द्र भादू, मनीष टाक, नवीन बिश्नोई, अभिजीत सिंह, साहिल बिश्नोई, मनोज जांगू, सूर्यकांत, सुदेश कड़वासरा, दलपतसिंह, गोपीराम, बंशी हुड्डा, राजेश चावला, विकाश सैन आदि सैंकड़ो छात्र उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...