पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57276.94-1 %
  • NIFTY17110.15-0.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48348-0.7 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62678-1.58 %

हे सरकार! किसानों का दर्द देखिए:रात 11:30 बजे आया यूरिया का रैक, आधी रात ही पहुंचे किसान, महिलाएं भी कतार में

श्रीगंगानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रात में बसें बंद थी, फिर भी यूरिया बंटने की खबर सुनते ही पैदल तो कोई निजी साधनों से आधी रात में आया

नहर में पानी आया, सरसों की सिंचाई व गेहूं बुवाई का समय, इसलिए यूरिया की मारामारी जिले में यूरिया की भारी किल्लत के कारण मंगलवार काे रावला, घड़साना, अनूपगढ़ और रामसिंहपुर क्षेत्र में कूपन लेने हजाराें किसान उमड़ पड़े। मंडियाें व कस्बाें में निर्धारित एक-एक जगह पर ही कूपन वितरित किए गए। ऐसे में स्थान विशेष पर मेले जैसा माहाैल नजर आया। बड़ी संख्या में महिलाएं भी कतार में लगी हुई दिखाई दी।

अनूपगढ़ शाखा में मंगलवार काे ही पानी छाेड़ा गया है। बुधवार तक इसकी वितरिकाओ में पानी पहुंचना शुरू हाे जाएगा। ऐसे में अगले आठ दिन तक इस क्षेत्र में यूरिया की भारी मांग रहने की संभावना है। यही कारण रहा कि क्षेत्र में किसान तड़के 4 बजे से ही लाइनाें में लगने शुरू हाे गए। कूपन वितरण के दाैरान व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस जाब्ता तैनात करना पड़ा।

यूरिया की मांग बढ़ने के 3 प्रमुख कारण

1. सरसाें बिजान काे 40 से 45 दिन हाे चुके हैं। गेहूं बिजान का भी समय है।

2. रावला-घड़साना अनूपगढ़ क्षेत्र में पिछले कुछ दिनाें से यूरिया नहीं थी। ऐसे में किसानाें डर है कि आगामी दिनाें में यूरिया मिलेगी या नहीं। यूरिया की कालाबाजारी की आशंका।

3. अनूपगढ़ शाखा में पानी आ गया। फसलाें के लिए सिंचाई के समय यूरिया की जरूरत है।

यूरिया नहीं मिली ताे असर क्या: मायूस कई किसानों ने बताया कि नहर में पानी तो आ गया लेकिन यूरिया नहीं मिलने से अंकुरित सरसाें की फसल काे नुकसान हाेगा। वहीं गेहूं की बुआई भी प्रभावित हाेगी।

6 बैग यूरिया फिलहाल पर्याप्त: प्रति बीघा सरसाें में 17 से 20 किलाे और गेहूं बिजान के लिए प्रति बीघा 25 से 30 किलाे यूरिया की जरूरत है। कृषि विभाग के अनुसार 25 बीघा की सिंचाई बारी में 10 से 12 बीघा में सिंचाई हाेगी। ऐसे में 6 थैला यूरिया पर्याप्त है।

अनूपगढ़ आए यूरिया का कितना आवंटन

अनूपगढ़ 16000 बैग घड़साना 10380 बैग रावला 12000 बैग रामसिंहपुर 2200 बैग 365 हैड 2800 बैग

आगे क्या| 4 तक 1 और रैक आएगा, 25 हजार बैग मिलेंगे।

साेमवार रात काे आए रैक का आवंटन कर दिया है। सभी जगह आवंटन के अनुसार यूरिया बुधवार दाेपहर तक पहुंच जाएगी। मंगलवार काे भी यूरिया का वितरण किया गया। मंगलवार काे सूरतगढ़ में आरसीएफ का एक रैक आया है। इसमें अनूपगढ़ काे 1800 और रावला काे 2200 बैग अलग से मिलेंगे। शुक्रवार-शनिवार तक एनएफएल का एक रैक अनूपगढ़ पहुंचने वाला है। इस रैक से रावला-घड़साना-अनूपगढ़ क्षेत्र काे 20 से 25 हजार बैग यूरिया मिलने की संभावना है। रामनिवास चौधरी, सहायक निदेशक, कृषि विस्तार

पहली तस्वीर घड़साना की है जहां 3000 से अिधक किसान यूरिया लेने के लिए आए थे, 1730 को ही कूपन मिले। दूसरी तस्वीर रावला की है, जहां यूरिया लेने महिलाओं को भी लंबी कतारों में लगना पड़ा।

खबरें और भी हैं...