पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हनीट्रैप मामले में पुलिस को नहीं मिला कोई सुराग:2 लड़कियों ने दूध व्यापारी को बुलाया था घर, आपत्तिजनक वीडियो बनाकर ऐंठे 3 लाख

श्रीगंगानगर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपियों ने वारदात को अंजाम देने के लिए किराए के मकान का इस्तेमाल किया। - Money Bhaskar
आरोपियों ने वारदात को अंजाम देने के लिए किराए के मकान का इस्तेमाल किया।

पंजाब के दूध व्यापारी को बसंती चौक पर बुलाकर हनीट्रैप में फंसाने के 3 दिन पुराने मामले में पुलिस के हाथ अब तक खाली है। पुलिस ने इस मामले में श्रीगंगानगर और इसके आसपास के इलाके में नजर रखी हुई है। पंजाब और श्रीगंगानगर इलाके में इस तरह के मामलों से जुड़े रहे आरोपियों से भी पूछताछ की जा रही है, लेकिन हनीट्रैप के इस मामले में अब तक कोई बड़ा सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है। आरोपी युवतियों ने बेहद शातिर तरीके से पंजाब के दूध व्यापारी को बसंती चौक के पास अपने घर बुलाया और उसके आपत्तिजनक वीडियो बनाकर रुपए ऐंठ लिए। खास बात यह है कि घटना के कुछ घंटे में ही आरोपी युवतियां और उसके साथी घटनास्थल पर ताला लगाकर फरार हो गए।

आसपास इलाके के हो सकते हैं आरोपी
जांच अधिकारी सेतिया कॉलोनी चौकी इंचार्ज सुभाष बिश्नोई ने बताया कि आरोपी श्रीगंगानगर या इसके आसपास के इलाके के होने की संभावना है। इसी कारण यहां नजर रखी हुई है। इस तरह के केसेज में पहले पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही है, लेकिन अब तक कोई पुख्ता जानकारी सामने नहीं आई है।

शातिर तरीके से दिया वारदात को अंजाम
आरोपियों ने एक मकान किराए पर लिया। श्रीगंगानगर से अबोहर मार्ग पर पंजाब के एक दूध व्यापारी को फोन कॉल कर समस्या बताने के लिए बुलाया। पीड़ित युवक अपने एक दोस्त के साथ युवती से बसंती चौक पर मिला। युवती उसे अपने घर ले गई। आरोपी युवती के घर पहुंचने के कुछ देर बार ही उसकी एक साथी युवती भी आ गई। युवती चाय बनाने का कहकर बाहर गई और कमरे का गेट बंद कर दिया। उसके बाद 3 युवक भी मौके पर आ गए और पीड़ित का आपत्तिजनक वीडियो बना लिया। आरोपियों ने पीड़ित को वीडियो वायरल कर बदनाम करने और दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाने की धमकी दी। आरोपियों ने पीड़ित से 3 लाख रुपए की मांग की। पीड़ित ने अपने दोस्त से 3 लाख रुपए लेकर आरोपियों को दिए तो उसे छोड़ा गया।

पुलिस के पहुंचने से पहले फरार हुए आरोपी
आरोपियों ने वारदात को अंजाम देने के लिए किराए के मकान का इस्तेमाल किया। आरोपी युवती ने अपना नाम भी नहीं बताया। ऐसे में पुलिस को ऐसा सुराग नहीं मिल पाया है, जिससे कि आरोपियों तक पहुंचा जा सके। वारदात जिस मकान में हुई, पुलिस वहां तक पहुंचती उससे पहले दोनों युवतियां और उनके साथी 3 युवक मकान पर ताला लगाकर फरार हो चुके थे। आसपास के लोगों ने बताया कि आरोपी कुछ समय पहले ही यहां रहने के लिए आए थे। आरोपियों तक पीड़ित के मोबाइल नंबर कैसे पहुंचे। इस बारे में पता लगाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...